-->

मेरी ब्लॉग सूची

सत्तू बेचकर जीवनयापन करने वाले पर पुलिस ने बड़पा कहर, ब्रांड बिहार राकेश पांडेय ने दिखाया बड़ा दिल

सत्तू बेचकर जीवनयापन करने वाले पर पुलिस ने बड़पा कहर, ब्रांड बिहार राकेश पांडेय ने दिखाया बड़ा दिल

न्यूज़ डेस्क | बिहार में बढ़ते संक्रमण पर ब्रेक लगाने के लिए नीतीश कुमार ने 15 मई तक बिहार में लॉकडाउन लगाया है। लॉकडाउन को शख्ती से पालन करवाने में बिहार पुलिस जुटी है लेकिन लॉकडाउन पालन करवाने के नाम पर कई बार पुलिस ने मानवता को शर्मसार करने वाली कार्यवाई भी की है। ताजा मामला मोतिहारी का है जहां लॉकडाउन को शख्ती से पालन कराने में जुटी टाउन थाना की पुलिस ने एक गरीब के जीविका पर डंडा चलाया है।


सत्तू बेचकर जीवन यापन करने वाले आर्यन उर्फ सुखडी नगर थाने के पास ठेले पर सत्तू का दुकान चलाता था लेकिन पुलिस ने लॉकडाउन को पालन करवाने के नामपर न सिर्फ डंडे बरसाये बल्कि सत्तू से भरे ठेले को भी पलट दिया, जीविका के एक मात्र साधन को पुलिस ने जिस शख्ती के नाम पर मिट्टी पर फेंक दिया इसको लेकर अब मोतिहारी पुलिस के खिलाफ लोगो का गुस्सा सोशल मीडिया में देखने को मिली। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर ब्रावो फार्मा के सीएमडी राकेश पांडेय तक भी पहुंची जो फिलहाल लंदन में है। इस तस्वीर को साझा करते हुए श्री पांडेय ने बड़ा दिल दिखाया और पुलिसकर्मियों के लिए भी बड़ा संदेश दिया। तस्वीर को साझा करते हुए राकेश पांडेय लिखते है -मैं क़ानून का सम्मान करता हूँ लेकिन मैं इंसानियत को प्रणाम 🙏🙏करता हूँ। ब्रावो फ़ाउंडेशन इस भाई को अपनी दुकान पुनः स्थापित करने ,उसकी कमाई से अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए 51000/- की आर्थिक मदद की घोषणा करता है । क़ानून सिर्फ़ ग़रीबों के लिए नहीं है हम सभी के लिए होना चाहिए। 

#जय_हिंद #जय_चम्पारण

राकेश पांडेय के इस पोस्ट को लगभग 5 हजार लोगों ने लाइक किया तो 1 हजार लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी। रश्मि स्वर्ण नाम की एक यूजर ने लिखा -Mujhe to baat shamaj nhi aati ki police or prasasan ki responsibility ultimately covid rokna h protocol follow krwana h....par kuch logo ka kaam dekh k lagta h ki yeh muskil samay ko or muskil bna rhe hain or apna frustration kamjor or gareeb par hi nikaalte hain....Unn sab logo se request hai please soch samaj k action le or insaniyat zinda rakhe....Inn sab k bich khusi ki baat hai ki Sir,aap jaise log hain jo iss muskil time me apni taraf se har sambhav kosish kr rhe hain....lekin har hum or aap nhi pahuch sakte sabki help k liye....jab tak yeh pura samaaj ek jut nhi hoga or insaniyat ka matlab nhi samjhega...kyu ki usk liye sirf insaan hona hi kafi nhi h



आगे अजित मिश्रा नाम के एक यूजर ने लिखा - भईया आप ना मंत्री है और ना ही विधायक या कोई नेता , ?

फिर भी आप गरीब और असहाय लोगो को जितना मदद करते है अगर उसका 1% भी नेता लोग करने लगे तो कोई भी लचार नही रहेगा |भईया आपका काम सराहनिय है 🙏🙏🙏🙏

आपके माता - पिता के चरणो में मेरा कोटी - कोटी प्रणाम 🙏🙏🙏🙏 हम सब आपके सदा के लिए अभारी रहेंगे , हा एक बात तो कहना भूल ही गया ,जो नेता लोग बिना किसी गरीब के सहायता किये बिना दिन - रात सरकार को घेर रहे है उन्हे भी दो रोटी दे देते तो अच्छा होता , शायद उससे भी थोडा उनलोगो को शर्म आ जाये , 

जय चम्पारण , जय बिहार , जय हिंद 

जय श्री राम

इधर राकेश पांडेय की संस्था ब्रावो फाउंडेशन के शैलेन्द्र मिश्र बाबा कहते है कि निर्देश मिलने के बाद हमलोगों ने सत्तू बेचने वाले आर्यन से बात किया है। जल्द ही उन्हें आर्थिक मदद की जाएगी ताकि वो फिर से जीवनयापन के लिए कुछ कर लें।

0 Response to "सत्तू बेचकर जीवनयापन करने वाले पर पुलिस ने बड़पा कहर, ब्रांड बिहार राकेश पांडेय ने दिखाया बड़ा दिल "

एक टिप्पणी भेजें