राज्‍यसभा चुनाव में बिहार BJP के लिए धर्मसंकट, सीट एक और 11 दावेदार; गेंद केंद्रीय कमेटी के पाले में

पटना। बिहार भाजपा से राज्यसभा सीट के लिए प्रत्याशी कौन होगा, इसका फैसला भाजपा की केंद्रीय कमेटी करेगी। दिल्ली में हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में बिहार भाजपा ने अंतिम निर्णय लेने के लिए केंद्रीय कमेटी को नामों के प्रस्ताव सौंप दिए। बता दें कि राज्‍यसभा की खाली सीटों को भरने के लिए बिहार भाजपा में रणनीति बनाई जा रही है। 26 मार्च को राज्‍यसभा की इन खाली सीटों के लिए चुनाव होना है।
दरअसल, राज्यसभा में भाजपा की दो सीटें रिक्त हो रही हैं। एक सीट डॉ. सीपी ठाकुर और दूसरी आरके सिन्हा का कार्यकाल पूरा होने के कारण खाली हो रही हैं। इन रिक्त सीटों पर पार्टी की ओर से प्रत्याशी कौन होगा। इसे लेकर भाजपा की कोर कमेटी की बैठक रविवार को दिल्ली में हुई। बैठक में बिहार से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव और वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. सीपी ठाकुर शामिल हुए। 
पार्टी सूत्रों ने बताया कि बिहार भाजपा ने पार्टी की केंद्रीय कमेटी को डॉ. सीपी ठाकुर, आरके सिन्हा समेत कुल 11 नाम सौंपे हैं, जिन्हें राज्यसभा के लिए उम्मीदवार बनाया जा सकता है। केंद्रीय कमेटी को इस पर अंतिम निर्णय लेने की जिम्मेदारी भी बिहार के नेताओं ने दी है। सूत्रों की मानें तो होली के बाद केंद्रीय कमेटी प्रस्तावित नामों पर मंथन करने के बाद बिहार कोटे से राज्यसभा उम्मीदवारों के नाम की घोषणा करेगी। 
बता दें कि इस बार बिहार से कुल पांच सीटें खाली हो रही हैं, जिनमें भाजपा की दो सीटें हैं। लेकिन भाजपा विधायकों-पार्षदों (वोटरों) के आंकड़े कुछ इस तरह है कि इस बार पार्टी केवल एक सदस्‍य को ही राज्‍यसभा भेज सकती है। बाकी की चार सीटों में से दो पर जदयू तथा दो बार राजद अपने सदस्‍यों को भेज सकते हैं। ऐसे में भाजपा के लिए सबसे अधिक परेशानी है कि वह किन्‍हें भेजें।  

Post a Comment

0 Comments