-->

मेरी ब्लॉग सूची

एक्साइज इंस्पेक्टर के दो आवास पर निगरानी विभाग की टीम ने की छापेमारी, जानें- क्या है पूरा मामला?

एक्साइज इंस्पेक्टर के दो आवास पर निगरानी विभाग की टीम ने की छापेमारी, जानें- क्या है पूरा मामला?


कैमूर:
बिहार के कैमूर जिले के चेक पोस्ट पर तैनात उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर निरंजन कुमार के मोहनिया और पटना स्थित प्राइवेट आवास पर मंगलवार को निगरानी का छापा पड़ा. निगरानी विभाग के डीएसपी की नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम ने उनके दोनों आवास पर छापेमारी की.

आय से अधिक संपत्ति का है मामला

छापेमारी के संबंध में जानकारी देते हुए निगरानी विभाग के डीएसपी ने बताया कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में निरंजन कुमार के खिलाफ निगरानी में केस की गई दर्ज है. इसी आधार पर उनके मोहनिया और पटना स्थित किराए के मकान की तलाशी ली गई है. किराए के मकान में कोई चल या मूल्यवान संपत्ति नहीं मिली है.

उन्होंने बताया कि फिलहाल निरंजन के पटना स्थित दो ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. वहां छापेमारी के दौरान कुछ बरामद सामान बरामद हुआ है. मोहनिया में घर बंद होने की वजह से दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति के लिए मोहनिया और भभुआ जाना पड़ा. इस दौरान कई बार निरंजन को कॉल किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया. चार-पांच घंटे के बाद वे उपस्थित हुए.

आरोपित इंस्पेक्टर ने कही ये बात

इधर, आरोपित उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर निरंजन कुमार ने बताया है कि वह लगातार निगरानी की टीम को सपोर्ट कर रहे हैं. छापेमारी क्यूं की जा रही है इसकी उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं है.

बता दें कि निगरानी विभाग के डीएसपी की नेतृत्व में 6 सदस्यीय टीम सुबह दस बजे ही कैमूर पहुंच गई थी. लेकिन, निरंजन कुमार द्वारा फोन नहीं उठाए जाने के कारण उनकी काफी फजीहत हुई. टीम मजिस्ट्रेट की बहाली के लिए पहले मोहनिया और फिर भभुआ दौड़ती रही. करीब 5 घंटे के बाद मजिस्ट्रेट बहाली के बाद निगरानी की टीम ने निरंजन राम के प्राइवेट आवास में छापेमारी की.

0 Response to "एक्साइज इंस्पेक्टर के दो आवास पर निगरानी विभाग की टीम ने की छापेमारी, जानें- क्या है पूरा मामला?"

एक टिप्पणी भेजें