-->

मेरी ब्लॉग सूची

कोरोना वैक्सीन की लागत का अनुमान लगाने में जुटी सरकार, जानिए कितने करोड़ का आ सकता है खर्च

कोरोना वैक्सीन की लागत का अनुमान लगाने में जुटी सरकार, जानिए कितने करोड़ का आ सकता है खर्च


नई दिल्ली।
सरकार आगामी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आम बजट पेश होने से पहले कोरोना वैक्सीन लगाने पर आने वाली लागत का एक मोटा अनुमान हर हाल में लगा लेना चाहती है। इस काम में नीति आयोग के साथ वित्त मंत्रालय में अपने-अपने स्तर पर कवायद चल रही है। टीकाकरण (वैक्सीनेशन) से जुड़े सभी संबंधित विभागों से तैयारी के साथ लागत की पूरी जानकारी ली जा रही है। वैक्सीन पर होने वाले खर्च को लेकर स्थिति स्पष्ट होने से आगामी बजट में वैक्सीन के लिए वित्तीय प्रावधान में आसानी होगी। हालांकि वित्त मंत्रालय वैक्सीन लगाने पर होने वाले सभी प्रकार के खर्च को पूरा करने के लिए तैयार है, लेकिन मंत्रालय बजट से पहले खर्च को लेकर स्थिति साफ करना चाहता है।

इंडस्ट्री सूत्रों के मुताबिक वैक्सीन को 'एंड यूजर' तक ले जाने व उसे लगाने में भी सरकार को उसका खर्च वहन करना होगा। एक मोटे अनुमान के मुताबिक वैक्सीन लगाने के लिए लगभग 30,000 कोल्ड चेन, 45,000 आइसलिंक्ड रेफ्रिजेरेटर, 41,000 डीप फ्रीजर जैसी चीजों की जरूरत होगी। हर वैक्सीन के लिए विशेष प्रकार की सीरिंज की आवश्यकता होगी। वैक्सीन लगाने के लिए अलग से हेल्थ स्टाफ की जरूरत होगी जिनके प्रशिक्षण पर भी खर्च किया गया है।

दो शॉट लगाने पर सरकार को कम से कम 450 रुपये का खर्च 

इंडस्ट्री सूत्रों के मुताबिक प्रति व्यक्ति वैक्सीन के दो शॉट लगाने पर सरकार को कम से कम 450 रुपये का खर्च वहन करना होगा। वर्ष 2021 में 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इंडस्ट्री सूत्रों के मुताबिक इस प्रकार सरकार को इस साल वैक्सीन लगाने के काम में कम से कम 13,500 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक वित्त मंत्रालय फिलहाल 30 करोड़ आबादी के टीकाकरण के हिसाब से ही होने वाले खर्च का प्रावधान बजट में कर सकता है। बाद में जरूरत और सरकार की आगे की योजना के मुताबिक अतिरिक्त बजट के इंतजाम भी किए जा सकते हैं।

खुले बाजार में वैक्सीन की कीमत 1000 रुपये

इंडस्ट्री सूत्रों के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट सरकार को ऑक्सफोर्ड वैक्सीन 250 रुपये में देगी। हालांकि यह साफ नहीं है कि 250 रुपये में वैक्सीन के डोज की मात्रा क्या होगी। फार्मा इंडस्ट्री सूत्रों के मुताबिक अभी यह भी साफ नहीं किया गया है कि वैक्सीन की बिक्री सिर्फ संस्थागत रूप से की जाएगी या खुले तौर पर भी इसकी बिक्री की इजाजत होगी। सिर्फ संस्थागत बिक्री की इजाजत मिलने की स्थिति में सरकार के कहने पर ही वैक्सीन दी जाएगी। हालांकि वैक्सीन बनाने वाली भारतीय कंपनी खुले बाजार में वैक्सीन की कीमत 1000 रुपये रखने की बात कर रही हैं। लेकिन फार्मा इंडस्ट्री सूत्रों का कहना है कि अभी वैक्सीन की बिक्री के तरीके को लेकर सरकार ने रुख साफ नहीं किया है।

0 Response to "कोरोना वैक्सीन की लागत का अनुमान लगाने में जुटी सरकार, जानिए कितने करोड़ का आ सकता है खर्च"

एक टिप्पणी भेजें