बेगूसराय के नागदह गोली कांड में आया नया मोड़, वार्ड पार्षद ने दर्ज कराई एफआईआर,14 नामजद


गोलीबारी की घटना में दूसरे पक्ष के एक महिला समेत दो हुए थे घायल

वार्ड पार्षद पामा देवी ने दर्ज कराई एफआईआर, रंगदारी मांगने का लगाया आरोप ,14 नामजद

ब्यूरो रिपोर्ट: बेगूसराय के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के नागदह मोहल्ले में बीते 19 जुलाई को हुए गोली कांड में अब नया मोड़ आ गया है। नागदह वार्ड 10 के वार्ड पार्षद पामा देवी ने 14 बदमाशों पर जानलेवा हमला करने एवं एक लाख रूपए रंगदारी वसूलने की एफआईआर दर्ज कराई है। सिंघौल सहायक थाना के प्रभारी मनीष कुमार ने बताया कि एफआईआर में कहा गया है कि नागदह में पार्षद पति मनोज कुमार, राहुल सिंह एवं दिलीप सिंह ने हाल में ही जमीन खरीदी थी। उक्त जमीन पर जब 19 जुलाई को जब वे लोग मकान बनवा रहे थे। तभी उनके ग्रामीण रामानंद महतो, चंद्रमोहन महतो, नीरज महतो, नरेश महतो, रामकृपाली महतो, राजेंद्र महतो, राजकुमार महतो, विशुनदेव महतो, कमलदेव महतो, रवि महतो इंद्रदेव महतो, किशुनदेव महतो और चुनचुन महतो के साथ पहुंचे और मनोज महतो से एक लाख रूपए रंगदारी मांगी। विरोध करने पर बदमाशों ने पिस्टल की बट और रॉड से मनोज, राहुल और दिलीप पर जानलेवा हमला कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने गोली चलाई । जो किशुनेदव महतो और सावित्री देवी को लग गई। पीड़िता पामा देवी का कहना है कि इस वारदात से कुछ दिन पहले भी उनके पति को आरोपितों ने बम फेंकने के जांच के झूठे केस में फंसाने की शिकायत थाना में की थी। जो जांच में झूठा निकला था। उल्लेखनीय है कि इस मामले में 19 जुलाई को जख्मी किशुनदेव महतो ने मनोज समेत 4 बदमाश पर जानलेवा हमला की एफआईआर दर्ज कराई थी।
जांच में जुटी पुलिस
सिंघौल सहायक थाना के प्रभारी मनीष कुमार ने कहा कि जमीनी विवाद में गोलीबारी की वारदात हुई थी। उन्होंने बताया कि नागदह में पशुपति साह की 24 कट्ठा जमीन है। जिस जमीन पर सालों से उनका कब्जा है। पार्षद पति मनोज कुमार ने उक्त प्लाट से एक कट्ठा जमीन खरीदी थी। जिस जमीन पर वे चहारदीवारी करवा रहे थे। इसी दौरान उक्त जमीन को अपना बताते हुए दूसरे पक्ष के लोगों ने  हंगामा कर दिया। दोनों पक्षों में विवाद हो गया और गोलीबारी में दो लोगों को गोली लग गई थी। हालांकि पुलिस पूरे मामलेे की छानबीन कर रही है ।

Post a Comment

0 Comments