छपरा सदर अस्पताल के 12 कर्मचारियों को हुआ कोरोना, OPD और SNCU बंद

छपरा: (पन्नालाल कुमार) छपरा में कोरोना विस्फोट हुआ है। यहां कोरोना वायरस वायरस के संक्रमण के 109 नए पॉजिटिव मरीज शनिवार को पाए गए। जिसमें एक दर्जन से अधिक चिकित्साकर्मी शामिल हैं। चिकित्साकर्मियों के पॉजिटिव पाए जाने के कारण सदर अस्पताल की ओपीडी और एसएनसीयू को बंद कर दिया गया है और सैनिटाइजेशन का काम शुरू कर दिया गया है। इसी तरह छपरा जंक्शन के चार नए पुलिसकर्मी भी कोरोनावायरस के संक्रमण के शिकार पाए गए हैं। छपरा रेल थाना को बंद नहीं किया गया है, वहां सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए सभी कामकाज निपटाए जा रहे हैं। रेल थाने का सैनिटाइजेशन का काम लगातार चल रहा है।


राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, सारण जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 644 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार तक जिले में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या 532 थी, जबकि गुरुवार को पॉजिटिव मरीजों की संख्या 469 थी। जिले में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण 11 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है।

जुलाई माह में सबसे अधिक सरकारी कर्मचारी और पदाधिकारी कोरोना वायरस के संक्रमण के शिकार हुए हैं। अब तक पशुपालन विभाग, स्वास्थ विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, निर्वाचन कार्यालय, डीआईजी कार्यालय, पुलिस केंद्र, छपरा रेल थाना, विभिन्न बैंकों, छपरा रेलवे अस्पताल, कोचिंग डिपो ऑफिसर कार्यालय, सोनपुर अनुमंडल कार्यालय, समाहरणालय के दो डिप्टी कलेक्टर इसके शिकार हो चुके हैं।

इसके अलावा छपरा शहर के कई निजी चिकित्सक और बैंक के कर्मचारी व पदाधिकारी कोरोनावायरस के संक्रमण के शिकार हो चुके हैं। सदर अस्पताल के एसएनसीयू ,ओपीडी ,इमरजेंसी तथा यक्षमा विभाग, जिला स्वास्थ समिति, सिविल सर्जन कार्यालय के कर्मचारी व पदाधिकारी भी पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य कर्मियों के पॉजिटिव पाए जाने के बाद सदर अस्पताल के ओपीडी और एसएनसीयू को बंद कर दिया गया है और वहां सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और उपचार की व्यवस्था पूरी तरह लाचार बनी हुई है, जिसके कारण इस पर अंकुश नहीं लग रहा है।

Post a Comment

0 Comments