सामाजिक कार्यकर्ता व एक फाइनेंस कंपनी के बिहार-झारखंड के को-ओर्डिनेटर ठाकुर संतोष शर्मा की मौत पर राजद ने गहरा दुःख व्यक्त किया।



अमरदीप नारायण प्रसाद

इंसाफ़ के कटघरे में नीरक्षीर विवेक के आधार पर दोषियों को खड़ा किया जा सके --- जवाहर       
                                          मोo नगर के पूर्व प्रमुख व राजद के प्रदेश सचिव जवाहर लाल राय ने बेगूसराय के सामाजिक कार्यकर्ता व एक फाइनेंस कंपनी के बिहार-झारखंड के को-ओर्डिनेटर ठाकुर संतोष शर्मा की मौत पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए मामले को गंभीर बताते हुए अविलंब जांच और कार्रवाई की मांग उठाई है l दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए मृतक के पोस्टमार्टम नहीं कराने पर सवाल उठाए हैं। साथ ही उन्होंने एसआइटी गठित कर मामले की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि सामाजिक कार्यकर्ता ठाकुर संतोष कुमार शर्मा की संदिग्ध स्थिति में मृत्यु से समूचा बिहार हतप्रभ है। मृत्यु के पूर्व अस्पताल में किसी से की जानेवाली बातचीत का उनका ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल है। उसमें उनकी आपबीती बहुत कुछ कह रही है। कहने की ज़रूरत नहीं है वह एक जुझारू और निर्भीक संवेदनशील सामाजिक कार्यकर्ता थे l प्रगतिशील सामाजिक न्याय आंदोलन के समर्पित योद्धा थे।  कहा कि वायरल ऑडियो उनकी साज़िशाना हत्या की तरफ़ इशारा कर रहा है। इसलिए इंसाफ़ का तक़ाज़ा है कि जनभावनाओं को देखते हुए ठाकुर संतोष शर्मा की संदिग्ध मौत की उच्च स्तरीय न्यायिक व प्रशासनिक जांच का आदेश मुख्यमंत्री दें। ताकि इंसाफ़ के कटघरे में नीरक्षीर विवेक के आधार पर दोषियों को खड़ा किया जा सके। सरकार मृतक की  पत्नी को पचास लाख रुपए की सहायता राशि और सरकारी नौकरी दे तथा नावकोठी थानाध्यक्ष को अविलंब सस्पेंड किया जाय l

Post a Comment

0 Comments