बिहार में पंचायत ने नाबालिग भाई-बहन का कराया विवाह, मामले की जांच में जुटी पुलिस

कटिहार : जिले के हसनगंज थाना क्षेत्र के कालीगंज गांव में घर से भागे नाबालिक युवक व युवती (दोनों रिश्ते में भाई-बहन है) की वायरल वीडियो के बाद गांव में पंचायत लगाकर उन दोनों की शादी कराने का मामला प्रकाश में आया है. उक्त मामले की जानकारी मिलते ही कटिहार पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गयी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार रिश्ते को शर्मशार करने का मामला बुधवार को प्रकाश में आया, जब रिश्ते के नाबालिग भाई-बहन (किशोर की ममेरी बहन) को पंचायत बुलाकर पंचायत प्रतिनिधियों ने उन दोनों का विवाह करा दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पंद्रह दिन पूर्व किशोर अपने दूर की एक रिश्तेदार मैट्रिक की छात्रा को लेकर घर से फरार हो गया. घटना बाबत जब पीड़िता के पिता ने लड़का के परिजनों पर दबाब बनाया कि मेरी पुत्री को शीघ्र बरामद करो. अन्यथा इसकी शिकायत थाना में कर देंगे. लड़का के पिता ने पीड़िता के पिता की धमकी पर सहम गये तथा अपने पुत्र को घर बुला लिया. पिता की सूचना मिलते ही किशोर नाबालिग को लेकर हसनगंज पहुंचा. घटना बाबत दोनों ओर से पंचायत बिठायी गयी. पंचायत में सरपंच, मुखिया सहित सभी पंचायत प्रतिनिधि, लड़का एवं लड़की के परिजन सहित सैकड़ों की संख्या में लोग जुटे. 

नाबालिग का कराया विवाह

पंचायत के दरम्यान दोनों पक्ष के बीच विवाद शुरू हो गया. बढ़ते विवाद के बाद पंचायत ने वहां मौजूद ग्रामीण एवं दोनों परिवार के सदस्यों के बीच दोनों का विवाह कराने का निर्णय लिया. जिसके बाद उन दोनों को मंदिर ले जाकर दोनों का विवाह कराया गया. अब सवाल यह उठता है कि राज्य सरकार के निर्देश की अवहेलना आखिर किस प्रकार उसके ही पंचायत प्रतिनिधियों ने कर डाली. पीड़िता के पिता ने कहा कि पंचायत के दरम्यान ही उन दोनों की सहमति के बाद उन दोनों की शादी करा दी गयी.

सरपंच लक्ष्मी मोहन ठाकुर ने बताया कि पंचायत बैठायी गयी थी. इसमें पंचायत के मुखिया, प्रमुख पति सहित अन्य लोग भी मौजूद थे. लड़का-लड़की के पंचायत पर आते ही दोनों पक्ष एक-दूसरे पर मारपीट पर उतारू हो गये. दोनों ओर से झड़प की स्थिति उत्पन्न हो गयी. किसी प्रकार विवाद को शांत कराया गया. उसके बाद दोनों पक्ष के लोगों ने कहा कि हमलोग का आपस का मामला है. हमलोग आपस में ही निर्णय ले लेंगे. उसके बाद हम पंचायत प्रतिनिधि वहां से चले आये. उसके बाद उन लोगों ने आपसी निर्णय में क्या फैसला लिया, उन्हें मालूम नहीं है.

घटना की जानकारी मिलते ही कटिहार एएसपी सह अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हरिमोहन शुक्ला ने बताया कि इसकी सूचना मिली है. सूचना के आधार पर हसनगंज थाना को निर्देशित कर उक्त मामले की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है

Post a Comment

0 Comments