बिहार के समस्तीपुर जिला के रोसड़ा प्रखंड कार्यालय पर रिश्वत नही देने पर बेहरमी से पुलिस ने पीटा।

समस्तीपुर : (अमरदीप नारायण प्रसाद) रोसड़ा बाजार नायक टोली  के निवासी अरुण कुमार नायक के साथ रोसड़ा प्रखंड कार्यालय पुलिसकर्मी के द्वारा बेहरमी से मार-पीट की गई।

रिश्वत ना देने पर की गई आवेदक की पिटाई। 

रोसड़ा अंचलाधिकारी नरेन्द्र कुमार के ऊपर 2 लाख रुपये रिश्वत मांगने का आरोप लगा है. यह गंभीर आरोप आवेदक अरुण कुमार ने लगाया है. साहब के डिमांड पूरी नहीं किये जाने पर उन्होंने गार्ड से बोलकर आवेदक की पिटाई करा दी. यह आरोप खुद आवेदक ने लगाया है. 
अरुण कुमार ने मीडिया से बताया कि उसने अपनी जमीन की दाखिल खारिज के लिए सीओ के पास आवेदन दिया था. लेकिन उससे 2 लाख रुपये रिश्वत की मांग की जा रही थी. पैसा नहीं देने पर उसकी आवेदन अस्वीकृत कर दी गई. इसी मामले में बुधवार को जब वह सीओ से मिलने कार्यालय पहुंचा, तो उसे संतोषजनक नहीं मिला.

हम जनता के नौकर नहीं है - CO

सीओ की ओर से टालमटोल जवाबदेही पर अरुण ने कहा कि आरटीआई में सब दिया हुआ है. फिर भी सीओ की ओर से पैसे मांगे गए. इसपर उसने कहा कि आप जनता के नौकर हैं. तो सीओ ने कहा कि सरकर हमें पैसे देती है. हम जनता के नौकर नहीं है.

बहस के बाद उनके गार्ड चोर-चोर कहकर मारपीट शुरू कर दिए. कर्मचारियों और सुरक्षा गार्ड ने मिलकर खूब पिटाई की.

सीओ ने घटना से किया इनकार

इस पिटाई से आवेदक अरुण कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गया. उसकी इलाज स्थानीय अस्पताल में कराई जा रही है. इस मामले से आरोपी रोसड़ा सीओ नरेन्द्र कुमार ने साफ इनकार किया. उन्होंने बताया कि उनके कार्यालय में ऐसा कोई मामला नहीं है.

कार्यालय से निकलने के बाद मालूम हुआ कि वह गेट पर गिर गया है. हालांकि प्रत्यक्षदर्शी प्रदीप कुमार ने इस पूरी घटना के बारे में बताया कि गार्ड और 3-4 आदमी मिलकर चोर-चोर चिल्लाकर उसकी पिटाई किये हैं.

Post a Comment

0 Comments