थाना कैंपस में चैन की नींद सो रहे थे 'दरोगा जी', चोरों ने उड़ा ली सर्विस पिस्टल


अररिया.
जब किसी के घर में चोरी, डकैती या इस तरह का अपराध होता है तो पुलिस चोरों को पकड़ने के लिए आती है. लेकिन, दूसरों की रक्षा करने वाले पुलिस वाले की ही पिस्टल चोरी हो जाए तो फिर चोरों को कौन पकड़े? कुछ ऐसा ही मामला बिहार के अररिया से सामने आया है, जहां चोरों ने दरोगा जी की सरकारी पिस्टल उड़ा ली वो भी लोडेड. पूरा मामला अररिया के फारबिसगंज थाना से जुड़ा है, जहां चोरों ने इस घटना को अंजाम दिया. चोरों ने वर्ष 2011 बैच के दरोगा विमल मंडल की सरकारी पिस्टल ही चुरा ली.

खास बात यह है कि इस घटना को चोरों ने थाना परिसर में बने सरकारी क्वार्टर में ही अंजाम दिया. फारबिसगंज थाना में पदस्थापित दरोगा विमल मंडल जब सो कर उठे तो उनके घर का दरवाजा खुला था और उनकी सरकारी पिस्टल गायब थी. पिस्टल मैगजीन से लोड थी लिहाजा दारोगा जी की पिस्टल चोरी होना फारबिसगंज के लोगों में कौतूहल का विषय बन गया है. वहीं, पुलिस डिपार्टमेंट में हड़कंप मच गया है.

सूचना मिलने पर फारबिसगंज SDPO मनोज कुमार भी मौके पर पहुंचे और खुद घटना की छानबीन में जुटे हैं. फारबिसगंज थाना के पीछे पुलिस का सरकारी क्वार्टर है जहां दरोगा विमल मंडल के साथ थानाध्यक्ष भी रहते हैं. इस घटना के बाद से पुलिस डिपार्टमेंट में हड़कंप मचा हुआ है. फारबिसगंज SDPO मनोज कुमार ने बताया कि पिस्टल की बरामदगी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी भी कर रही है. दूसरी तरफ फारबिसगंज शहर के लोगों में चर्चा है कि जब पुलिस वाले की ही पिस्टल चोरी हो रही है तो शहर में अन्य चोरी की घटनाओं को भला कैसे रोका जा सकेगा.

Post a Comment

0 Comments