बिहार में STET की परीक्षा रद्द, 34 हजार शिक्षकों की बहाली पर फिर लटकी तलवार

पटना. बिहार में एसटीईटी (STET) रद्द कर दिया गया है. बिहार बोर्ड (Bihar Board) ने इसी साल 28 जनवरी को हुई परीक्षा में गड़बड़ी के मामलों को लेकर ये फैसला लिया है. इसमें 2 लाख 43 हजार 141 परीक्षार्थियों ने भाग लिया था. बोर्ड ने परीक्षा के फिर से आयोजन को लेकर सरकार को शिक्षा विभाग ने प्रस्ताव भेज दिया है. STET की परीक्षा दोबारा कब ली जाएगी, इसके बारे में शिक्षा विभाग ही अंतिम फैसला लेगा. गौरतलब है कि अभी हाल ही में बिहार सरकार ने राज्य में 34 हजार पदों पर शिक्षक बहाली के लिए अधिसूचना जारी की थी. इस परीक्षा के रद्द होने का इस प्रक्रिया पर असर पड़ सकता है.


कमेटी ने सौंपी रिपोर्ट

सहरसा और गया केंद्र पर हुए उपद्रव के बाद बोर्ड ने मामले की जांच के लिए चार सदस्यों की एक कमेटी का गठन किया था. इस कमेटी ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट बोर्ड को सौंपी थी. जिसमें परीक्षा की गोपनीयता भंग मिलने पर इसे रद्द करने का फैसला लिया गया. जानकारी के अनुसार बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर ने एसटीईटी को रद्द करने का निर्णय लिया. इस फैसले के बाद अब राज्य के हाई और प्लस टू के शिक्षकों की बहाली पर फिर से संकट गहरा गया है.

कब होगी परीक्षा इसका पता नहीं
अब एसटीईटी कब होगा इसको लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है. जानकारी के अनुसार बिहार बोर्ड ने राज्य सरकार के पास परीक्षा को दोबारा करवाने संबंधी प्रस्ताव भेज दिया है. अब परीक्षा की अगली तिथि क्या होगी इसका अंतिम निर्णय शिक्षा विभाग का होगा और उसी के बाद परीक्षा की तारीख घोषित की जाएगी.

सहरसा और गया में किया था उपद्रव

28 जनवरी को राज्य भर में हुई एसटीईटी के दौरान सहरसा और गया केंद्रों में गड़बड़ी सामने आई थी. यहां पर परीक्षार्थियों ने जमकर उपद्रव किया था. साथ ही केंद्रों पर तोड़फोड़ भी की गई थी. वहीं जांच में सामने आया है कि ओएमआर शीट से भी छेड़छाड़ की गई.

Post a Comment

0 Comments