-->

मेरी ब्लॉग सूची

Delhi Violence: उपद्रवियों को देखते ही गोली मार देने का आदेश

Delhi Violence: उपद्रवियों को देखते ही गोली मार देने का आदेश

नागरिकता कानून संशोधन (CAA) को लेकर भड़की हिंसा से उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात बेहद खराब हो गए हैं. दिल्ली पुलिस को उपद्रवियों को देखते ही गोली मार देने का आदेश दिया गया है. दिल्ली में हालात बेहद खराब हैं. एक महीने के लिए धारा 144 लगा दी गई है.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब भी सवेंदनशील स्थिति बनी हुई है. पुलिस का दावा है कि स्थिति सामान्य है, लेकिन हालात तनावपूर्ण हैं. पुलिस,ए एसएसपी और आईटीबीपी के जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं. उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में पूरे एक महीने के लिए धारा 144 लागू है. अतिरिक्त पुलिसबलों की तैनाती की गई है.

दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने दिल्ली हिंसा पर कहा है कि दिल्ली पुलिस हिंसा से निपटने के लिए पूरी तरह से सक्षम है. दिल्ली पुलिस प्रभावित इलाकों में मुस्तैद है और हालात को काबू में कर लिया है. पुलिस हालात पर पूरी तरह से मुस्तैद है. पुलिस को जैसी ही हिंसा की जानकारी मिल रही है, पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्सेज तुरंत कार्रवाई कर रही है.

जाफराबाद धरने पर बैठी महिलाएं हटाई गईं

दिल्ली के जाफराबाद में धरने पर बैठी महिलाओं को मौके से हटा दिया गया है. पुलिस ने रास्ता क्लियर करा दिया है. जो महिलाएं धरने पर बैठीं थीं, उन्हें मौके से हटा दिया गया है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक महिलाएं नागरिकता कानून के खिलाफ धरने पर बैठी थीं.

अब मौजपुर इलाके से सभी उपद्रवियों को हटा दिया गया है. पूरे इलाके में सन्नाटा फैला है. पुलिसबलों के अलावा कोई भी सड़कों पर नजर नहीं आ रहा है. उत्तरी दिल्ली में पुलिस की तैनाती अब दिख रही है. पुलिस की सख्ती असर दिख रही है.

24 घंटे के भीतर शाह की तीसरी बैठक

दिल्ली में भड़की हिंसा के मद्देनजर गृह मंत्री अमित शाह ने 24 घंटों के भीतर तीसरी बार बड़ी बैठक ली है. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह के अलावा दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर(लॉ एंड ऑर्डर) एसएन श्रीवास्तव भी मौजूद रहे.

दिल्ली में नागरिकता कानून(सीएए) पर भड़की हिंसा में अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में संवेदनशील स्थिति के बीच दिल्ली पुलिस ने भारतीय पुलिस सेवा(आईपीएस) के अधिकारी एसएन श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से स्पेशल कमिश्नर(लॉ एंड ऑर्डर) नियुक्त किया है.

0 Response to "Delhi Violence: उपद्रवियों को देखते ही गोली मार देने का आदेश"

टिप्पणी पोस्ट करें