प्रमोशन में आरक्षण को लेकर भीम आर्मी ने किया भारत बन्द, महागठबंधन सहित सभी विरोधी दलों का मिला समर्थन

सहरसा: (अमीर झा) अनुसूचित जाति एवं जनजाति के उच्च अंकधारी अभ्यर्थियों को सामान्य कोटि का लाभ से वंचित करने के खिलाफ तथा सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर को वापस लेने की मांग को लेकर भीम आर्मी ने रविवार को भारत बंद का आह्वान किया है। बंद के आह्वान के तहत सहरसा बंद सफल रहा। भीम आर्मी, हम, सीपीआई, राजद, लोजद, जाप के कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। कार्यकर्त्ताओं ने थाना चौक, वीर कुंवर सिंह चौक को बांस-बल्ले से घेर कर किया यातायात बाधित किया। और सड़क पर टायर जलाकर विरोध किया। बंद को लेकर राहगीरों को हुई परेशानी, पैदल जाने वालों को भी बंद समर्थकों ने रोका। सुरक्षा के मद्देनजर सभी चौक चौराहों पर पुलिस बल की तैनाती की गई थी। बंद समर्थक सुबह से ही झंडा बैनर के साथ बाजार को बंद कराते नजर आए। सदर थानाध्यक्ष राजमणि ने बंद समर्थकों से वार्ता कर जाम को हटाया। वक्ताओं ने कहा कि आज देश में आरक्षण सहित अन्य ज्वलंत मुद्दे पर आमलोगों को सताया जा रहा है। 
बेरोजगारी, महंगाई चरम पर है। इस पर ध्यान देने के बजाय सरकार समाज में उन्माद फैला रही है। सभी लोगों ने एक स्वर से संविधान को बचाने की लड़ाई में किसी हद तक जाने की बात कही। बाजार बंद में रालोसपा प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष चंदन बागची, भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष संजय पासवान, सीपीएम जिलामंत्री रंधीर कुमार, लोजद जिलाध्यक्ष धनिकलाल मुखिया, हम के जिलाध्यक्ष रामरतन ऋषिदेव, वीआइपी पार्टी जिलाध्यक्ष रेशमा शर्मा, राजद नेता भीम भारती, पवन यादव, विदन यादव, गुड्डू यादव, एआइएसएफ के शंकर कुमार, चौसन कुमार, द ग्रेट भीम आर्मी के मंटू पासवान, संयोग कुमार, मो. गुलाम अशरफ जिलानी, मो. टीपू, धीरेन्द्र कुमार, रूपेश भारती, राहुल कुमार, विकेश कुमार, संजीव कुमार, मो. मुमताज, मनोज मल्होत्रा सहित कई मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments