-->

मेरी ब्लॉग सूची

एक सीओ ऐसा भी : न सिर्फ सरकारी फाइलों को दुरुस्त किया बल्कि भाई से भाई को मिलाया

एक सीओ ऐसा भी : न सिर्फ सरकारी फाइलों को दुरुस्त किया बल्कि भाई से भाई को मिलाया

मोतिहारी। सरकारी नौकरी में तबादला तो होना तय ही है लेकिन कुछ ऐसे भी अधिकारी होते है जो अपने काम से न सिर्फ सरकारी फाइलों को दुरुस्त करते है बल्कि जनता के दिल मे भी राज करते है। कुछ ऐसी ही है पूर्वी चंपारण के पकड़ीदयाल के निवर्तमान अंचलाधिकारी रहे राजेश कुमार के कार्यकाल की कहानी। राजस्व भूमि सुधार विभाग में हुए बड़े तबादले में राजेश कुमार का स्थांतरण पकड़ीदयाल से जमुई के सांहो प्रखंड में हुआ। 3 साल के कार्यकाल में श्री कुमार ने न सिर्फ फाइलों को दुरुस्त किया बल्कि जनता के दिल मे भी ऐसा अमिट पहचान बनाया जिसे क्षेत्र के लोग भूल नही पाएंगे।

फोटो- दाहिने में नीले शर्ट में सीओ राजेश कुमार
श्री कुमार ने अपने कार्यकाल में पूर्व के लंबित सैकड़ों फाइलों को दुरुस्त किया। भूमि विवाद के लगभग 3 दर्जन मामलों को आपस मे सुलह कराकर खत्म किया। श्री कुमार ने कोरोना संक्रमण काल में क्षेत्र के लोगो को बचाने के लिए भी लगातार जागरूकता फैलाया। क्षेत्र के लोग कहते है कि कोरोना कि पहली लहर से दूसरी लहर और भी ज्यादा खतरनाक थी, बावजूद लगातार प्रत्येक क्षेत्र में खुद जाकर लोगो को माइकिंग के माध्यम से जागरुक करते रहे, श्री कुमार संक्रमण के जद में भी आये लेकिन जैसे ही स्वस्थ हुए फिर अपने काम पर लग गए। तबादले के बाद राजेश कुमार ने बताया कि पिछले 3 साल में क्षेत्र के लोगो का भी इतना सहयोग मिला कि कभी ऐसा नही लगा की मैं यहां का अधिकारी हूँ। प्रत्येक समाज के लोगो के बीच जाना, खासकर भूमि विवाद को आपस मे सुलह कर निपटारा करना मेरी पहली प्राथमिकता रही। जिस क्षेत्र में मेरा तबादला हुआ है मेरी प्राथमिकता वहां भी होगी कि भूमि विवाद के कारण आपसी रिश्तों में बढ़ती दूरियां को खत्म करूँ.


0 Response to "एक सीओ ऐसा भी : न सिर्फ सरकारी फाइलों को दुरुस्त किया बल्कि भाई से भाई को मिलाया"

एक टिप्पणी भेजें