-->

मेरी ब्लॉग सूची

Arrah: सड़क दुर्घटना में शिक्षक के एकलौते पुत्र की मौत से पसरा मातम

Arrah: सड़क दुर्घटना में शिक्षक के एकलौते पुत्र की मौत से पसरा मातम

●   पीरो-बिहिया स्टेट हाईवे पर बरहरवा टोला की पेट्रोल पंप के समीप हुई घटना

●   अंकित के गर्दन में रस्सी बंध जाने से घटनास्थल पर हो गई मौत

●   परिजनों के विलाप से माहौल पूरी तरह हुआ गमगीन 

रिपोर्ट- सूरज कुमार राठी


जगदीशपुर (भोजपुर)। स्थानीय जगदीशपुर थाना अंतर्गत पीरो-बिहिया स्टेट हाईवे पर शनिवार की दोपहर बरहरवा टोला की पेट्रोल पंप के समीप सड़क दुर्घटना में शिक्षक पुत्र की मौत हो गई। जबकि इस घटना में मृतक का दोस्त जख्मी हो गया। मृत युवक का नाम 18 वर्षीय अंकित कुमार है, जो जगदीशपुर नगर के वार्ड संख्या-ग्यारह निवासी शिक्षक सुरेंद्र चौधरी का इकलौता पुत्र था। घटना के संबंध में बताया जाता है कि अंकित कुमार अपने दोस्त मुन्ना कुमार के साथ अपनी दुकान (इलेक्‍ट्रॉनिक) के सामान लाने बाइक पर सवार होकर बिहिया गया था। वापस बिहिया से लौटने के क्रम में बरहरवा टोला के पास   बिजली विभाग द्वारा पोल पर तार टांगा जा रहा था। जहाँ ऑटो से रस्सी के द्वारा तार को टाइट किया जा रहा था। तभी इसी दरमियान, अंकित रस्सी के चपेट में आ गया, जहां उसका गर्दन में रस्सी बंध जाने से घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि, साथी जख्मी हो गया। घटना होते ही आसपास के इलाके में हलचल मच गई। स्थानीय लोगों की सूचना पर मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे। शव देखते हैं परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों के विलाप से वहां का माहौल पूरी तरह गमगीन हो गया। जानकारी के मुताबिक, मृतक एक बड़ी बहन में सबसे छोटा था। वह अपने परिवार का एकमात्र चिराग था। नगर के सिया जी कंपलेक्स में इलेक्ट्रॉनिक का दुकान पिछले वर्ष नवंबर में किया था। जिससे वो पूरे परिवार का भरण-पोषण किया करता था। अंकित की मौत से उसके परिवार वालों पर दुखों का पहाड़ टूट चुका है। इकलौते पुत्र की मौत की खबर सुन मां राजवंती देवी धरती पर गिर पड़ी। रोते बिलखते स्वजन व अन्य मोहल्ले के महिलाएं इन्हें ढाढस बंधाने का प्रयास करती रही। महिलाओं के प्रयास से पल भर के लिए मा होश में आती व फिर बेहोश हो जाती। होश में आने पर उसने कहा कि आइहो भगवान ई का कइल ... ई केकर नजर लागल हो दादा। वहीं बेटे को खोने के गम में मां का बुरा हाल था। घटना की सूचना पर जदयू प्रखण्ड अध्यक्ष मनजी चौधरी,पूर्व नप उपाध्यक्ष अर्जुन प्रसाद, वार्ड पार्षद पति मुन्ना चौधरी, मिलिन्द चौधरी सहित काफी संख्या में लोग पहुंचकर पीड़ित परिवार को सांत्वना दिया। साथ ही, वार्ड पार्षद गंगाजली देवी प्रशासन से मांग करते हुए पीड़ित परिवार को मुआवजा व दोषियों पर कठोर कार्रवाई हो। 

दोषियों पर कार्रवाई व मुआवजा की मांग को लेकर सड़क जाम

अंकित की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों व स्थानीय लोगों ने सड़क पर उतर आए। पीरो-बिहिया स्टेट हाईवे पर शव के साथ बैठ गए। गुस्साए लोग पीड़ित परिवार को मुआवजा देने व दोषी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे। सड़क जाम की सूचना मिलते ही जगदीशपुर थाने की पुलिस व अंचलाधिकारी जयराम प्रसाद सिंह घटनास्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने परिजनों को समझा-बुझाकर आश्वासन दिया। प्रशासन के आश्वासन के बाद सड़क जाम हटाया गया। तब जाकर आवागमन शुरू किया जा सका। इस बीच करीब ढेड़ घंटे तक मार्ग जाम रहा। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल आरा भेज दिया।

0 Response to "Arrah: सड़क दुर्घटना में शिक्षक के एकलौते पुत्र की मौत से पसरा मातम"

टिप्पणी पोस्ट करें