-->

मेरी ब्लॉग सूची

RJD ने मैट्रिक की परीक्षा के चौथे दिन भी प्रश्नपत्र लीक होने का किया दावा, कहा- पेपर बेच-बेचकर......

RJD ने मैट्रिक की परीक्षा के चौथे दिन भी प्रश्नपत्र लीक होने का किया दावा, कहा- पेपर बेच-बेचकर......


पटना: बिहार बोर्ड की मैट्रिक की परीक्षा का आज चौथा दिन है. तीसरे दिन सोशल साइंस का पेपर लीक होने के बाद अब आरजेडी का दावा है कि चौथे दिन भी मैट्रिक की परीक्षा के अंग्रेजी का पेपर लीक हो गया है. इस संबंध में आरजेडी ने ट्वीट कर कहा कि चौथे दिन भी मैट्रिक की परीक्षा का प्रश्रपत्र लीक हो गया है. वहीं, उन्होंने सरकार पर प्रश्रपत्र बेचने का भी आरोप लगाया है.

आरजेडी ने शनिवार को अपने आधिकारिक ट्वीट में कहा, " मैट्रिक परीक्षा के चौथे दिन चौथा प्रश्नपत्र भी लीक. पूरे साल पढ़ाई नहीं हुई. परीक्षा की तैयारी के लिए सरकार द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था नहीं करवाया गया. परीक्षा को एकाध महीने टाला नहीं गया. अब पेपर बेच बेच कर आरसीपी कुनबे की कमाई और विद्यार्थियों पर पेपर लीक का मानसिक प्रताड़ना! वाह! "



बता दें कि कल भी नेता प्रतिपक्ष ने सदन में सोशल साइंस का पेपर लीक होने का मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा था कि बिहार की ये कैसी व्यवस्था है कि परीक्षा कोई भी पेपर पहले ही लीक हो जाता है. ये कहते हुए तेजस्वी अपनी बात आगे बढ़ा ही रहे थे कि विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने सभा को स्थगित कर दिया था.

हालांकि, सदन से बाहर निकलने के बाद तेजस्वी ने इस मामले में सीएम नीतीश पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि मैट्रिक की परीक्षा के तीसरे दिन ही सोशल सांइस का पेपर लीक हो गया, लेकिन राज्य के शिक्षा मंत्री को इसकी जानकारी तक नहीं है. जबकि विपक्ष के पास इसकी पूरी जानकारी है. इस बारे में सदन में सीएम नीतीश भी कुछ नहीं बोले. उन्हें सदन में बताना चाहिए था, कि उनको सूचना क्यों नहीं मिली है?


तेजस्वी ने कहा था कि अगर सीएम नीतीश को मैट्रिक के प्रश्नपत्र लीक को लेकर सूचना थी, तो उन्होंने सदन में बताया क्यों नहीं. सरकार बिहार के छात्र-छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है. हम चाहते हैं कि इस मामले में कड़ी जांच हो और कौन इसमें शामिल हैं, सरकार जबाब दें. इधर, तेजस्वी के आवाज उठाने के बाद बीएसईबी ने सोशल साइंस की परीक्षा रद्द करने का एलान कर दिया है.

0 Response to "RJD ने मैट्रिक की परीक्षा के चौथे दिन भी प्रश्नपत्र लीक होने का किया दावा, कहा- पेपर बेच-बेचकर......"

एक टिप्पणी भेजें