-->

मेरी ब्लॉग सूची

मोतिहारी गैंगरेप केस : एसपी खुद पहुंचे घटनास्थल पर, दोषी बच नही पाएंगे

मोतिहारी गैंगरेप केस : एसपी खुद पहुंचे घटनास्थल पर, दोषी बच नही पाएंगे

मोतिहारी(दिव्यांशु रमण/शिव कुमार)। जिले के कुण्डवा चैनपुर थाना क्षेत्र में 21 जनवरी को 12 वर्ष के मासूम के साथ 4 लोगो ने मिलकर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। गैंगरेप के आरोपियों ने उस मासूम को मौत के घाट भी उतार दिया और बिना परिवार को सूचित किये शव को भी जला दिया। पूरी घटना ठीक वैसा ही हुआ जैसे उत्तरप्रदेश के हाथरस में हुआ था। स्थानीय थानेदार पर इस घटना में पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि एफआईआर तक नही दर्ज किया गया और एक ऑडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ। वायरल ऑडियो में थानेदार साक्ष्य मिटाने के बाते कह रहा है, थानाध्यक्ष कह रहा है - लड़कीं मंगवाओ, जल्दी जलाओ ।


घटना को थानाध्यक्ष ने दबाने की बहुत कोशिश की लेकिन 15 दिनों के बाद ये खबर जिले के पुलिस कप्तान तक पहुंची। एसपी नवीन चंद्र झा ने तत्काल कुण्डवा चैनपुर के थानाध्यक्ष .. को सस्पेंड किया, सिकरहना डीएसपी के नेतृत्व में जाँच टीम बनाई गई और अविलंब इस मामले पर रिपोर्ट मांगी गई। रविवार को इस मामले की जांच करने एसपी खुद घटनास्थल पर पहंचे, एसपी ने बारीकी से इस मामले की जांच की और कहा कि दोषी कोई भी हो बचेंगे नही। एसपी ने बताया कि इस मामले में 2 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है, अन्य 9 लोगो के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। इधर बिहार में हाथरस जैसी घटना के लिए सिर्फ आरोपी और थानेदार ही जिम्मेदार क्यो, थाना के अन्य कर्मी को भी इस बात की जानकारी थी, उनपर कार्यवाई क्यो नही ? ये सवाल सोशल मीडिया में उठ रहा है। 


दरिंदगी की शिकार हुई बच्ची के पिता नेपाल के रहने वाले हैं और कुंडवाचैनपुर बाजार में नाइट गार्ड का काम करते हैं। नेपाल का रहने वाला नाइट गार्ड कुंडवा चैनपुर स्थित सियाराम साह के मकान में भाड़े पर रहता था। वह बाजार में घूम घूम कर चाय बेचने का काम और रात में चौकीदारी का काम करता था। लगभग 7 वर्षों से वह उसी बाजार में काम करके अपना परिवार चलाता था।



दरअसल, 21 जनवरी को जब उसकी बेटी घर में अकेली थी और उसकी पत्नी नेपाल अपने गांव गई थी। इसी दौरान कुंडवाचैनपुर के रहने वाले विनय साह, दीपक कुमार साह, देवेंद्र कुमार साह और रमेश साह ने बच्ची के साथ गैंग रेप किया और फिर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपियों ने मृत बच्ची के पिता को काफी डराया-धमकाया और मृत बच्ची के शव को जला दिया। घटना के अगले दिन मृत बच्ची के पिता और भाई को आरोपियों में मारपीट कर नेपाल सीमा तक पहुंचा दिया।

0 Response to "मोतिहारी गैंगरेप केस : एसपी खुद पहुंचे घटनास्थल पर, दोषी बच नही पाएंगे"

टिप्पणी पोस्ट करें