-->

मेरी ब्लॉग सूची

गैंगरेप केस : मोतिहारी एसपी बोले - किसी के पास भी हो साक्ष्य तो हमे भेजें, दोषी बख्से नही जाएंगे

गैंगरेप केस : मोतिहारी एसपी बोले - किसी के पास भी हो साक्ष्य तो हमे भेजें, दोषी बख्से नही जाएंगे

मोतिहारी। जिले के कुण्डवा चैनपुर में 21 जनवरी को हुए नाबालिक बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या के मामले पुलिस दोषियों को बख्शेगी नही, चाहे हो घटना में शामिल अपराधी हो या साक्ष्य मिटाने के आरोपी, पुलिस के अधिकारी भी अगर इसमें दोषी है तो उसपर भी कड़ी से कड़ी कार्यवाई होगी उक्त बातें जिला पुलिस कप्तान नवीन चंद्र झा ने टुडे बिहार न्यूज से बातचीत करते हुए कहा। पुलिस कप्तान ने कहा कि उन्हें इस मामले की जानकारी लेट से मिली, दोषी पुलिस अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है, सिकरहना एसडीपीओ के नेतृत्व में मामले की जांच कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि फिलहाल पुलिस इस मामले से साक्ष्य जुटा रही है, दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाएंगे। एसपी ने कहा कि अगर किसी के पास भी इस घटना से जुड़ी हुई कोई भी साक्ष्य हो तो उनके मोबाइल नंबर 9431822988 पर व्हाट्सएप करें।


आपको बता दें कि दरिंदगी की शिकार हुई बच्ची के पिता नेपाल के रहने वाले हैं और कुंडवाचैनपुर बाजार में नाइट गार्ड का काम करते हैं। नेपाल का रहने वाला नाइट गार्ड कुंडवा चैनपुर स्थित सियाराम साह के मकान में भाड़े पर रहता था। वह बाजार में घूम घूम कर चाय बेचने का काम और रात में चौकीदारी का काम करता था। लगभग 7 वर्षों से वह उसी बाजार में काम करके अपना परिवार चलाता था। दरअसल, 21 जनवरी को जब उसकी बेटी घर में अकेली थी और उसकी पत्नी नेपाल अपने गांव गई थी। इसी दौरान कुंडवाचैनपुर के रहने वाले विनय साह, दीपक कुमार साह, देवेंद्र कुमार साह और रमेश साह ने बच्ची के साथ गैंग रेप किया और फिर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपियों ने मृत बच्ची के पिता को काफी डराया-धमकाया और मृत बच्ची के शव को जला दिया। घटना के अगले दिन मृत बच्ची के पिता और भाई को आरोपियों में मारपीट कर नेपाल सीमा तक पहुंचा दिया।

2 Responses to "गैंगरेप केस : मोतिहारी एसपी बोले - किसी के पास भी हो साक्ष्य तो हमे भेजें, दोषी बख्से नही जाएंगे"