-->

मेरी ब्लॉग सूची

पुलिस-पब्लिक मैत्री क्रिकेट टूर्नामेंट: मुजफ्फरपुर को 69 रनों से हराकर सिवान सेमीफाइनल में पहुंचा

पुलिस-पब्लिक मैत्री क्रिकेट टूर्नामेंट: मुजफ्फरपुर को 69 रनों से हराकर सिवान सेमीफाइनल में पहुंचा

जगदीशपुर।(भोजपुर)।
नगर पंचायत जगदीशपुर में शारदा ब्रजराज खेल मैदान पर बाबू वीर कुंवर सिंह की स्मृति में खेले जा रहे पुलिस-पब्लिक मैत्री क्रिकेट कप ट्वेंटी-ट्वेंटी टूर्नामेंट का तीसरा मुकाबला बुधवार को मुजफ्फरपुर बनाम सिवान की टीम के बीच खेला गया। टॉस जीतकर सिवान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए सिवान की टीम ने सचिन कुमार के 75 रन का ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की बदौलत 20 ओवर में कुल 213 रन बनाए। इसके जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुजफ्फरपुर की टीम 20 ओवर में नौ विकेट के नुकसान पर महज 144 रन ही बना पाई। सिवान ने इस मैच में 69 रन से जीत दर्ज की और इस जीत के साथ ही सिवान की टीम सेमीफाइनल में पहुंचने में कामयाब रही। मैच में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच सचिन कुमार को चुना गया। जिन्होंने शानदार 75 रन व सटीक गेंदबाजी करते हुए 2 विकेट झटके। इस मैच में मुजफ्फरपुर टीम के खिलाड़ी मयंक कुमार ने 4 गेंदों पर लगातार चार छक्के लगाकर 500 रुपए का नगद इनाम जीता। बुधवार को मैच देखने के लिए दर्शकों की भीड़ जुटी रही। दर्शकों ने मैच का आनंद जमकर उठाया। इसके पहले मैच का उद्घाटन आरा, राजेन्द्र हॉस्पिटल के प्रबन्ध निदेशक डॉ अनिल कुमार सिंह ने की। मैच में अंपायर की भूमिका में मुकेश सिंह, मोहम्मद मुख्तार अंसारी व सुनील कुमार पांडा स्कोरर की भूमिका में रहे हैं। सिवान से आए संजय जी, मजहर खान व डॉक्टर शाहनवाज वारिस कमेंट्री और उद्घोषक की बेहतर भूमिका का प्रदर्शन किया। आज टूर्नामेंट का पहला सेमीफाइनल मैच सिवान और सारण के बीच खेला जाएगा। मैच में हैट्रिक छक्का-चौका और विकेट लेने वाले खिलाड़ियों को तारा पशु आहार के डिस्ट्रीब्यूटर सुनील कुमार पांडा की ओर से विशेष पुरस्कार दिया जा रहा है। मैच का मेजबानी जगदीशपुर  थानाध्यक्ष शंभू भगत कर रहे हैं। प्रतियोगिता को सफल बनाने में जितेंद्र यादव, धीरज कुमार, सुनील कुमार, और संटू कुमार समेत अन्य लोगों का विशेष योगदान रहा।

रिपोर्ट:- सूरज कुमार राठी

0 Response to "पुलिस-पब्लिक मैत्री क्रिकेट टूर्नामेंट: मुजफ्फरपुर को 69 रनों से हराकर सिवान सेमीफाइनल में पहुंचा"

एक टिप्पणी भेजें