पानी के बीच में टापू पर चलाते थे शराब की फैक्ट्री,पुलिस ने किया आग और पानी के हवाले


मोतिहारी: (दिव्यांशु रमन)
बिहार में नीतीश सरकार ने 1 अप्रैल 2016 से बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी लागू कर दी उसके बाद बिहार में शराबमाफियाओं के बीच हड़कंप मच गया फिर कारोबारियों ने अपनी अपनी शैतानी दिमाग लगाना शुरू कर दिया जितने भी गलत तरीके के हथकंडे थे वो सभी माफियाओं ने आजमा लिया लेकिन ये बिहार की पुलिस है शराबकारोबारी चाहे कोई भी रास्ते आजमा ले पुलिस तो आपको छोड़ेंगी नही लगातार पुलिस शराब से भरी ट्रक,शराब के साथ कारोबारियों को भी पुलिस जेल भेजने में कोई कसर नही छोड़ रही है शराब कारोबारी कोई ना कोई नायाब तरीका निकाल कर ही क्यों ना शराब की कारोबार कर ले लेकिन वो ईतने खुदकिस्मत कहाँ जो पुलिस की नजरों से बच सके शराबबन्दी अभियान को सफल बनाने में लगातार जुटे अरेराज डीएसपी ज्योति प्रकाश लगातार अपनी टीम के साथ शराबकारोबारियों पर पुलिस वालों की मौजूदगी दिखाते रखते है एवं साथ ही शराब की बड़ी बड़ी खेप को बर्बाद भी कर रहे है मोतिहारी जिले में एसपी नवीन चन्द्र झा के निर्देश पर लगातार पुलिस टीम कर रही है।

छापेमारी अरेराज डीएसपी ने अपनी पूरी टीम के साथ संग्रामपुर थाना क्षेत्र के कोइरगावा गांव की चेवर में छापेमारी की लेकिन कारोबारियों की एक नई तरकीब ने पुलिस को भी हक्का बक्का कर दिया पूरे क्षेत्र में पानी ही पानी दिखाई दे रहा था उसी पानी के बीच मे टापू पर चला रहे थे शराब की फैक्ट्री पुलिस को वहाँ तक पहुंचने में कुछ समय तो लगा क्योकि कमर से ऊपर तक पानी ही पानी थी फिर भी अपनी जान को हथेली पर रख बहुत सी मुसीबतों का सामना करते हुए शराब की भट्टियों के पास पहुँचे पुलिस को अपनी तरफ आता देख कारोबारी तो नाव के सहारे निकलने में सफल तो हो गए लेकिन उनकी फैक्ट्री तो पुलिस के हाथ लग गई फिर क्या सभी पुलिसकर्मियों को डीएसपी ज्योती प्रकाश ने निर्देश दिया ही था सभी अपनी जान को हथेली पर रख अपने सीने भर पानी मे किसी भी तरह नाव के सहारे पहुँचे शराब फैक्ट्री के पास और टूट पड़े शराब की उस फैक्ट्री को नष्ट करने के लिए लगभग 2000 लीटर से ज्यादा निर्मित देशी शराब को पुलिस ने पानी के हवाले कर दिया और लगभग 70 लीटर अर्ध निर्मित देशी शराब को भी जप्त किया और वहाँ पर चल रही शराब की भट्टियों में आग लगा उसे नष्ट कर दिया और जितनी भी सामाग्री थी जिसके द्वारा देशी शराब बनाया जाता था सभी सामग्रियों को आग के हवाले कर दिया गया बहुत सी उपकरणों को पुलिस ने अपने कब्जे में लिया  गैस सिलेंडर,ड्रम से भरे शराब को पानी के ही हवाले कर दिया गया  और बहुत सी सामानों को पुलिस अपने साथ थाने ले आई डीएसपी ने बताया की ईस छापेमारी में गोविंदगंज इंस्पेक्टर सरफराज अहमद,मलाही थानाध्यक्ष राजेश कुमार, पहाड़पुर थानाध्यक्ष अनुज कुमार,संग्रामपुर थानाध्यक्ष महेंद्र कुमार के साथ जिला पुलिस बल के साथ जिला की महिला पुलिसकर्मी भी ईस अभियान में शामिल थे ईसके पूर्व में भी पुलिस द्वारा छापेमारी की गई थी और आगे भी लगातार छापेमारी होती रहेगी कारोबारियों को चिन्हित कर उनपर कार्यवाई की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments