बिहार चुनाव: नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फाड़े राहुल-सोनिया के पोस्टर, पार्टी नेताओं पर टिकट बेचने का आरोप

गोपालगंज. गुरुवार को  कांग्रेस कार्यकर्ता उस वक़्त आक्रोशित हो गए जब पार्टी कार्यालय के द्वारा कुचायकोट विधानसभा सीट से लोजपा से आए नेता काली पाण्डे और गोपालगंज सीट से आसिफ गफूर (Asif gafur) को पार्टी का टिकट देने की घोषणा की गयी. घोषणा होते ही दर्जनों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता शहर के मारवाड़ी मुहल्ला स्थित पार्टी एक कार्यालय में पहुंचे और राहुल गांधी  सोनिया गांधी सहित पार्टी के बड़े नेताओं के सटे पोस्टर फाड़ दिये. पार्टी के झंडा और अन्य दूसरे पोस्टरों को भी आग के हवाले कर दिया. सभी कार्यकर्ता कांग्रेस नेता सुभाष सिंह के नेतृत्व में हंगामा और आगजनी कर रहे थे.

दर्जनों कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस मुर्दाबाद और स्थानीय कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ भी नारेबाजी करते रहे. आगजनी और हंगामा के दौरान नाराज नेताओ ने पार्टी कार्यालय में रखे कीमती सामान भी बर्बाद कर दिया और कार्यालय में ताला लगा दिया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुभाष सिंह कुशवाहा ने बताया कि वे पार्टी के सबसे पुराने और वफादार कार्यकर्ताओं में से हैं. उन्होंने अपने मकान में निशुल्क पार्टी कार्यालय खोलने की इजाजत दी थी और गोपालगंज विधानसभा सीट से वे सबसे ज्यादा योग्य उम्मीदवार थे.



सुभाष सिंह ने वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं पर उपेक्षा करने और पैसे वसूली का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि उनसे पार्टी का टिकट देने के लिए 15 लाख रूपये की मांग की गयी थी. जब उन्होंने 15 लाख रूपये में देने से इंकार कर दिए तो अंतिम समय में उनका टिकट काट दिया गया और उनकी जगह दूसरे दल के नेताओं को इंट्री देकर टिकट दे दी गई.

सुभाष सिंह ने कहा कि सभी नियमों को ताक पर उनसे दिल्ली में 15 लाख रूपये की मांग की गयी थी. कांग्रेस नेता मदन मोहन झा, सदानंद सिंह, शक्ति सिंह गोहिल, अविनाश पाण्डेय मिलकर कांग्रेस को समाप्त कर रहे हैं और टिकट को बेच रहे हैं. गोपालगंज पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ और आगजनी की सुचना मिलने के बाद भी दूसरे कांग्रेस नेता पार्टी कार्यालय में पहुंचने की हिम्मत नहीं जुटा सके.

Post a Comment

0 Comments