बिहार विधानसभा चुनाव 2020: महागठबंधन में कांग्रेस और एनडीए में LJP को मिली कितनी सीट? आज तस्वीर साफ होने की उम्मीद

बिहार बिधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए गुरुवार को जहां नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई, वहीं राज्य के दोनों बड़े गठबंधनों में सीट बंटवारे का मामला नहीं सुलझ सका है. इसे लेकर बैठकों का दौर जारी है. लोजपा के रुख को लेकर जहां एनडीए में जीच कायम है तो उधर, महागठबंधन में भी राजद-कांग्रेस के बीच अंतिम रूप से कुछ तय नहीं हो पाया है. सीट बंटवारे को लेकर आज का दिन बेहद अहम है.

राजद ने अपने प्रत्याशियों को चुनाव निशान बांटने की कवायद शुरू कर दी है. प्रथम फेज की 71 सीटों में से एक चौथाई प्रत्याशी चुनाव निशान हासिल कर चुके हैं. गुरुवार को ऐसे प्रत्याशी दस सर्कुलर रोड आये और अपना चुनाव चिह्न प्रपत्र लेकर चले गये. राजद के वरिष्ठ राष्ट्रीय पदाधिकारी भोला यादव ने बताया कि चुनाव सिंबल बांटने की कवायद शुरू हो चुकी है. हालांकि उन्होंने इस सवाल का उत्तर नहीं दिया कि प्रथम चरण की 71 सीटों पर उन्होंने अपने कितने प्रत्याशी उतारे हैं.

बिहार चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर राजद और कांग्रेस की साझेदारी का पेच अब सुलझता जा रहा है. पिछले 48 घंटे में दोनों के रिश्तों के बीच जमी बर्फ गुरुवार को कुछ पिघली है. पार्टी के जानकारों के मुताबिक पहले चरण के लिए करीब 20 सीटों को छोड़कर राजद ने अन्य सभी सीटों पर अपने प्रत्याशियों को हरी झंडी दे दी है. गुरुवार को दिन भर चली वर्चुअल मीटिंग के बाद कुछ बात बनी है. काराकाट, आरा, ओबरा और सासाराम सहित तीन-चार अन्य सीटें कांग्रेस के लिए राजद ने छोड़ दी हैं.

पिछले चुनाव से बिहार में साझीदार रहे राजद और कांग्रेस की साझेदारी का पेच अब सुलझता जा रहा है. पिछले 48 घंटे में दोनों के रिश्तों के बीच जमी बर्फ गुरुवार को कुछ पिघली है. पार्टी के जानकारों के मुताबिक पहले चरण के लिए करीब 20 सीटों को छोड़कर राजद ने अन्य सभी सीटों पर अपने प्रत्याशियों को हरी झंडी दे दी है. गुरुवार को दिन भर चली वर्चुअल मीटिंग के बाद कुछ बात बनी है.

महागठबंधन में कांग्रेस और राजद के बीच उपजे तनाव को खत्म करने के लिए प्रियंका गांधी उथर आईं हैं. बुधवार को बिहार के सभी वरीय नेताओं से हुई वार्ता की जानकारी भी बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने प्रियंका गांधी को दे दी. उसके बाद बातचीत का सिलसिला शुरू हो गयी. उम्मीद है कि शुक्रवार तक नये फार्मूले पर बात बन सकती है.

पहले चरण में पटना जिले के पांच विधानसभा क्षेत्रों में नामांकन 1 अक्टूबर से शुरू हो गया है. इसमें मोकामा, बाढ़, मसौढी, पालीगंज, विक्रम विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं. पहले दिन एक भी उम्मीदवार ने नामांकन नहीं किया है. 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के कारण नामांकन नहीं होगा. 8 अक्टूबर तक नामांकन होगा.

Post a Comment

0 Comments