दुष्कर्म की घटना के विरोध में सीएम का का पुतला फूंका

आइसा नेताओं ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

● घटना में संलिप्त अपराधियों पर सख्त कार्यवाही की मांग


जगदीशपुर। दलित नाबालिग से दुष्कर्म की घटना के विरोध में आरा- मोहनिया एनएच थर्टी हाईवे पथ पर नया टोला मोड़ के समीप छात्र आइसा व इंनौस के आक्रोशित नेताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश का पुतला फूंककर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन किया। इस दौरान नेताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया। साथ ही घटना में संलिप्त अपराधियों पर सख्त कार्यवाही की मांग किया। इस मौके पर भाकपा माले राज्य कमिटी सदस्य सह इंनौस के प्रदेश अध्यक्ष अजीत कुशवाहा ने कहा कि राज्य में क्राइम इतना ज्यादा बढ़ चुका है कि महिलाएं स्वयं को असुरक्षित महसूस करने लगी हैं। उन्हाेंने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि ऐसा करने वाले आरोपियों को तुरंत फांसी की सजा दी जाए, ताकि आगे से इस तरह की कोई घटना न हो। मौके पर आइसा प्रखंड सचिव कमलेश यादव, इंनौस प्रखंड संयोजक कादिर अली, चंदन यादव , बलिराम यादव, खालिद सिद्दीकी, सागर भाई, गणेश कुमार, चंदन राम, रिंटू, मनीष , राहुल ,धर्मेन्द्र ,मंटू बोस, अरुण , कृष्णा सहित अन्य मौजूद रहे।

अपनी मौसी के घर किताब लेने आई थी छात्रा

गौरतलब हो कि प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत कौरा गांव में नाबालिग छात्रा अपनी मौसी के घर किताब लेने आई थी।  घर वापस लौटते हुए कुछ लड़कों ने उसे पकड़ लिया और गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान दुष्कर्म में शामिल बदमाशों ने नाबालिग का अश्लील वीडियो भी बनाया व उसे इस बारे में किसी को न बताने की धमकी दी। कुछ दिन बाद दुष्कर्म के आरोपियों ने पीड़िता का अश्लील वीडियो, सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिसके बाद लड़की ने घरवालों के सामने अपनी आपबीती सुनाई व परिजन आनन फानन में पीड़िता को लेकर एससी-एसटी थाने पहुंचे और दो नामजद सहित चार लोगों के खिलाफ जबरन दुष्कर्म व अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने का मामला दर्ज कराया।

Post a Comment

0 Comments