विधानसभा चुनाव को लेकर रजौली विधानसभा के सेक्टर ऑफिसरों की बैठक

नवादा: (मोनू कुमार मुन्ना)अनुमंडल कार्यालय स्थित सभागार में रजौली विधानसभा के सेक्टर ऑफिसरों की बैठक आयोजित की गई। आयोजित बैठक में रजौली विधानसभा के रजौली, सिरदला व मेसकौर तीनों प्रखंडों के 50 सेक्टर ऑफिसर शामिल हुए। बैठक में निर्वाची पदाधिकारी सह एसडीओ चंद्रशेखर आजाद द्वारा मुख्य रूप से दो बिंदुओं पर चर्चा की गई। उपस्थित सेक्टर ऑफिसरों को बताया गया कि आप लोगों को दो प्रपत्र दिए जा रहे हैं। जिनमें से एक प्रपत्र पर बूथ पर बेसिक सुविधाओं जैसे-शौचालय, बिजली आदि का सर्वे रिपोर्ट देना है। वहीं दूसरे प्रपत्र पर मतदान को प्रभावित करने वाले लोगों की पहचान कर उसका डाटा देना है। जैसे-भेद टोला, भेदक की पहचान। वैसे लोग जो विधानसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं को वोट देने से डराता हो, धमकाता हो। वैसे लोगों की पहचान कर निर्धारित प्रपत्र में उसका रिपोर्ट दें। उस पर चुनाव के दौरान विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। एसडीओ चंद्रशेखर आजाद ने बताया कि रजौली विधानसभा के 3 प्रखंडों में 50 सेक्टर ऑफिसर हैं। जिनमें पर्यवेक्षक कैडर के अधिकारियों को लगाया गया है। इनमें प्रखंड कल्याण पदाधिकारी, ग्राम पंचायत सुपरवाइजर, कृषि विभाग से जुड़े कोऑर्डिनेटर शामिल हैं। रजौली विधानसभा में 307 मौलिक मतदान केन्द्र हैं। लेकिन कोरोना महामारी को लेकर मतदान केन्द्रों की संख्या बढ़ाई गई है। 307 मौलिक मतदान केन्द्रों के अलावे 150 सहायक मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।
इस तरह से अब रजौली विधानसभा में 492 मतदान केन्द्र हो गए हैं। एसडीओ ने सभी सेक्टर ऑफिसर से कहा कि आप लोग अभी से ही चुनाव की तैयारियों में लग जाएं।  संवेदनशील बूथों पर  नजर रखें। कभी भी चुनाव आयोग द्वारा बिहार में चुनाव आदर्श आचार संहिता लागू की जा सकती है। इसलिए आप लोग अभी से ही इसकी तैयारी करें क्योंकि व्यापक तैयारी के आधार पर ही स्वच्छ व निष्पक्ष मतदान कराए जा सकते हैं। हर मतदाताओं को निर्भीक होकर बगैर किसी दबाव में वोट देने का अधिकार है और उसे किसी भी कीमत पर किसी असामाजिक तत्वों के लोगों को प्रभावित करने नहीं दिया जाएगा। मौके पर मौजूद एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय ने कहा कि रजौली विधान सभा भौतिक संरचना व नक्सली गतिविधियों को लेकर संवेदनशील है। सभी सेक्टर पदाधिकारी अपने बूथों का गहन समीक्षा करें ताकि कमजोर मतदाता को मतदान से रोकने वाले या पैसों का प्रलोभन देकर विचलित करने वालों की चिन्हित कर कार्रवाई की जा सके। मतदान के दौरान शांति व्यवस्था भंग करने वाले व्यक्ति को चिन्हित कर वैसे असामाजिक तत्वों पर 107 और 110 की कानूनी कार्रवाई की जा सके। मौके पर आईसीडीएस की डीपीओ रश्मि रंजन आदि उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments