बसों में ना तो सैनिटाइजर थी और ना यात्री मास्क पहने थे, कई बसों में भेड़-बकरियों की तरह ठूंसे गए थे यात्री, परिवहन विभाग ने किया जब्त

PATNA : परिवहन विभाग ने निजी बसों को परिचालन की अनुमति क्या दी, खुलेआम कोविड को लेकर जारी किए गए गाइडलाइन की धज्जियां उडाई जाने लगी। परिवहन आयुक्त ने सूचना के बाद बुधवार को टीम गठित कर छापेमारी का निर्देश दिया। पटना के मीठापुर बस स्टैंड में परिवहन विभाग की छापेमारी में कई बसों को जब्त कर लिया गया।


बसों में ना तो सौनिटाइजर की व्यवस्था थी और ना ही यात्री मास्क पहने हुए थे। कई बसों में तो सीट से काफी अधिक यात्रियों को चढ़ा लिया गया था। कुछ बसों में तो भेड़-बकरियों की तरह यात्रियों को ठूंस दिया गया था। छापेमारी में परिवहन विभाग की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाली आधा दर्जन से अधिक बसों को जब्त किया गया। परिवहन विभाग को इस बात की शिकायत मिली थी कि सरकार के लॉकडाउन के नियम के खिलाफ कई बसों के प्रबंधक बसों का परिचालन कर रहे हैं।
 
ना तो बसों का सेनेटाइज कराते हैं और ना ही लॉकडाउन के नियम का पालन कर रहे हैं। बस बस में काफी संख्या में लोगों को चढ़ाया गया था और कई लोग बिना मास्क के ही थे। इसके बाद परिवहन आयुक्त ने एक विशेष टीम का गठन किया और टीम ने आज रेड किया तो कई बसों को जब्त कर लिया है। इन सभी पर मामला दर्ज कराकर जुर्माना भी वसूला जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments