सरकार लॉकडाउन लगा रही व सत्ताधारी दल के नेता बाइक जुलूस निकाल रहे: अजीत कुशवाहा

प्रखंड मुख्यालय पर मानव श्रृंखला बना सरकार के प्रति जताया आक्रोश 


जगदीशपुर। प्रखंड मुख्यालय पर अखिल भारतीय खेत मजदूर व भाकपा माले के देशव्यापी आह्वान पर माले नेताओं ने मानव श्रृंखला बनाकर सरकार के प्रति आक्रोश जताया। नेताओं ने आवाज बुलंद करते हुए कोरोना काल में सरकार द्वारा किए गए वादे को याद दिलाने   का काम किया। इस दौरान एक सभा का आयोजन हुआ। संबोधित करते हुए भाकपा माले राज्य कमेटी सदस्य अजीत कुशवाहा ने कहां की कोरोना महामारी के कारण बिहार सरकार लॉकडॉउन का पालन जनता से करने को कह रही है, तमाम शिक्षण संस्थानों को बंद की हुई है। चुनाव कराने पर तुली हुई है। सताधरी दल के नेताओं को बाइक जूलूस निकालने और सभा करने की खुली छूट दे दिया गया है,जिसका प्रमाण जगदीशपुर की जनता है। लॉकडाउन के कारण बिहारी प्रवासी मजदूर व तमाम मजदूरों की मजदूरी खत्म हो गई। बहुत सारे मजदूर ऐसे भी है जिनके पास राशन कार्ड भी नहीं है। अगर लॉक डाउन में विद्यालय व शिक्षण संस्थानों को बंद रखा जाएगा तो फिर चुनाव कैसे कराया जा सकता है। जबकि मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही।आगामी चुनाव में एनडीए को जनता सबका सिखाने का कार्य करेगी।


बता दें कि इस आंदोलन के तहत माले नेताओं ने सरकार से प्रवासी मज़दूरों समेत सभी मज़दूरों को 10 हजार रुपये कोरोना लॉकडाउन भत्ता देने की मांग की। इसके अलावा स्वयं सहायता समूह-जीविका समूह सहित केसीसी व अन्य छोटे लोन माफ करने को कहा। वही मनरेगा में सभी मज़दूरों को 200 दिन काम और 500 रुपये दैनिक मजदूरी की गारंटी करने के भी मांग किया। माले प्रखंड सचिव विजय ओझा, पूर्व जिला परिषद सदस्य इंदु सिंह, आइसा प्रखंड सचिव कमलेश यादव , किसान नेता विनोद कुशवाहा , किसान नेता कमलेश यादव, गणेश कुशवाहा , श्रीराम यादव, उमेन्द्र जी , अरुण राम , वीरेंद्र जी , राम आशीष यादव सहित अन्य रहे।

Post a Comment

0 Comments