कलेक्ट्रेट परिसर में ध्वजारोहण के दौरान महिला ने की आत्मदाह की कोशिश, नाबालिग बेटियों के अपहरण में पुलिस पर लगाया यह गंभीर आरोप...

GOPALGANJ:
बिहार के गोपालगंज में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कलेक्ट्रेट परिसर में ध्वजारोहण के दौरान एक महिला ने केरोसिन तेल का गैलेन शरीर पर उड़ेल कर आत्मदाह की कोशिश की. हालांकि मौके पर मौजुद महिला पुलिसकर्मियों ने तत्परता से काम लेते हुए महिला को बचा लिया. बाद में पुलिस पीड़ित महिला को नगर थाने लेकर आयी. महिला ने डीएम और एसपी के सामने नगर थाने के इंस्पेक्टर पर दो लाख रुपये लेकर अपहर्ताओं को छोड़ने का आरोप लगाया. बता दें कि महिला ने पहले ही इस बात की चेतावनी दी थी कि वह स्वतंत्रता दिवस समारोह में आकर आत्मदाह कर लेगी.

दरअसल, पीड़ित महिला फुलवरिया थाने के दुबे बतरहां के निवासी भृगुनाथ तिवारी की पत्नी गौतम देवी है. महिला का कहना है कि22 जुलाई कोउसकी नाबालिग बेटी का अपहरण नगर थाने के पोस्ट ऑफिस चौक के पास से कर लिया गया.

नगर थाने में इस मामले में शिकायत की गयी, लेकिन पुलिस ने एफआइआर दर्ज नहीं की. इस बीच अपहृर्ताओं ने फोन कर दो लाख रुपये की मांग की है. पैसा के साथ दहीभाता पुल के समीप अपहृताओं ने बुलायी. परिजन जब वहां पहुंचे तो अपहृत किशोरी और अपहर्ता बोलेरो में थे

अपहर्ताओं को देख शोर करने पर आसपास के ग्रामीण पहुंचे और बोलेरो के साथ अपहर्ता को पकड़कर पुलिस को सूचना दी. नगर थाने की पुलिस दहीभाता में पहुंची और अपहर्ता और किशोरी को बोलेरो के साथ थाना लेकर आयी

महिला के अनुसार, पुलिस ने कार्रवाई न करके दोनों को छोड़ दिया. जिसके बाद तीन अगस्त को मुजफ्फरपुर से अपहर्ताओं ने आकर महिला के घर फुलवरिया के दुबे बतरहां से दो नाबालिग बेटियों का जबरन अपहरण कर लिया.

महिला ने आरोप लगाया कि इस मामले में फुलवरिया और नगर थाने में भी शिकायत की गयी, लेकिन एफआइआर तक दर्ज नहीं की गयी. वहीं इस संबंध में डीएम अरशद अजीज ने पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार तिवारी को मामले में जांच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है.महिला इंसाफ की मांग कर पहले ही आत्मदाह की धमकी दे चुकी थी

Post a Comment

0 Comments