गृहमंत्री अमित शाह को एम्स अस्पताल से मिली छुट्टी, सांस में तकलीफ के चलते हुए थे भर्ती

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह तो दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) अस्पताल से छुट्टी मिल गयी है. अमित शाह को 18 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था. कुछ दिनों पहले सांस लेने में परेशानी के चलते शाह को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) भर्ती कराया गया था.

एम्स में करीब 12 दिन चले इलाज के बाद उन्हें एम्स से डिस्चार्ज किया गया है. गृहमंत्री जल्द ही अपना कामकाज सुचारू रूप से संभाल सकते हैं. एम्स में गृहमंत्री की सेहत का इलाज एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व वाली टीम कर रही थी.

बता दें कि इससे पहले 2 अगस्त को अमित शाह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे. उन्होंने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी. इसके बाद 14 अगस्त को अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ गई. कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था, 'मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है. मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं. इस समय जिन लोगों ने मेरे स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनाएं देकर मेरा और मेरे परिजनों को ढांढस बंधाया, उन सभी का ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूं.' उनका मेदांता अस्पताल में संक्रमण का इलाज चला था और संक्रमण मुक्त होने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी.

अमित शाह को कोविड-19 बीमारी के बाद की देखभाल के लिए एम्स में 18 अगस्त को भर्ती कराया गया था. एम्स ने एक बयान में कहा था, ‘‘केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को कोविड-19 बीमारी के बाद की देखभाल के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था. वह स्वस्थ हो गये हैं और जल्द ही उन्हें छुट्टी दी जा सकती है.’’ गृह मंत्री अमित शाह अस्पताल से ही अपना सारा काम करते रहे. उन्होंने अस्पताल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठकों में हिस्सा लिया.

Post a Comment

0 Comments