कारगिल विजय दिवस पर शहीदों के परिजन सम्मानित , जांबाजों को नमन: देश के लिए जान गवाने वाले वीर कभी मरते नहीं हमेशा हृदय में अमिट छाप छोड़ जाते हैं

भारत जन्मभूमि जागरण मंडल ने मनाया उत्सव

●आर्यावर्त क्लासेज में हुआ कार्यक्रम आयोजित

जगदीशपुर। कारगिल विजय दिवस की 21वीं वर्षगांठ पर रविवार को वतन के लिए जान गवाने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि दी गयी। इस दौरान शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया। इसको लेकर जगदीशपुर नगर स्थित आर्यावर्त क्लासेज के परिसर में भारत जन्मभूमि जन जागरण मंडल, जगदीशपुर के तत्वावधान में समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि इंजीनियर संजय शुक्ला, शहीद हरेराम सिंह के पुत्र नीरज कुमार, शहीद लालजी सिंह के पुत्र धीरज कुमार व शहीद अशोक सिंह की पत्नी संगीता देवी संयुक्त रुप से अमर जवान ज्योति स्मारक व अखंड भारत माता की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं पुष्पांजलि अर्पित कर शुभारंभ किया।
            इसके बाद( मुंगौल) निवासी शहीद हरेराम सिंह के पुत्र नीरज कुमार, शहीद लालजी सिंह के पुत्र धीरज कुमार, (रक्टु) टोला निवासी शहीद अशोक सिंह की पत्नी संगीता देवी व पुत्र विशाल कुमार को अंग वस्त्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। तत्पश्चात शहीदों की याद में दो मिनट का मौन रखकर उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गयी। समारोह की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष अमन इंडियन ने किया। मौके पर प्रोफेसर रामजी सिंह, सोनू गुप्ता, मुकेश चौधरी,मोनू स्वर्णकार,अभिषेक मिश्रा, हुडी बाबा धन जी, बालेश्वर सिंह, सुधीर साहिल, विशाल सोनी,गोलू कुमार, शुभम कुमार, प्रशांत पटेल, सुबोध ठाकुर, विष्णुशंकर मिश्रा, विजय कुशवाहा, सुनील गुप्ता, अर्जुन कुमार, सुमित सोनी, विक्की गुप्ता, मुकेश चौबे,अरूण ठाकुर, आदर्श कुमार,मंटू कोडेला, दीपक गुप्ता, पंकज गुप्ता समेत कई लोग मौजूद थे।


जवानों के बलिदान के कारण भारतवासी सुरक्षित

समारोह में वक्ताओं ने कहा कि देश के लिए जान गवाने वाले वीर कभी मरते नही। वह हमेशा देशवासियों के हृदय में अमिट छाप छोड़ जाते हैं। वीरो व शहीदों की शहादत को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। उनकी वीरता की गाथाओं से प्रेरणा मिलती है और देशभक्ति के प्रति लोग जागृत होते हैं। कारगिल विजय दिवस हम सभी भारतवासियों के लिए गर्व की बात है। आज हमसभी अमर शहीद जवानों के बलिदान के कारण ही अपने देश के अंदर सुरक्षित हैं।

Post a Comment

0 Comments