7 महीने बाद भी मोतिहारी डीएम नही करा सके मनरेगा मामले की जांच, पीएमओ में लंबित है शिकायत

मोतिहारी। जिले के पकड़ीदयाल प्रखंड क्षेत्र के राजेपुर नवादा में मुखिया द्वारा कराए गए मनरेगा योजना के कार्यों में बड़े पैमाने पर गबन की शिकायत प्रखंड के अधिकारियों से ग्रामीणों ने किया था लेकिन जब स्थानीय अधिकारियों जे इस मामले में संज्ञान नही लिया तो इसकी शिकायत जिले के वरीय अधिकारियों से की गई लेकिन ग्रामीणों के शिकायत पर जिले के अधिकारीयों ने शिकायत की जांच नही की।

ग्रामीण राम एकबाल सिंह ने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय से इसकी शिकायत की लेकिन 7 महीने बाद भी इस मामले की अबतक जांच नही कराई गई। आपको बता दें कि 8 नवंबर 2019 को प्रधानमंत्री कार्यालय से इसकी शिकायत की गई । पीएमओ पोर्टल से शिकायत के बाद 15 नवंबर को मोतिहारी डीएम को जांच के आदेश दिए गए लेकिन 7 महीने बाद भी जिलाधिकारी जांच नही करा सके। वही शिकायतकर्ता रामएकबाल सिंह का कहना है कि प्रखंड के अधिकारी मुखिया से बिक चुके है। मनरेगा के रोजगार सेवक और मुखिया के मिलीभगत से करोड़ो का गबन किया गया है। स्थानीय मुखिया उमा देवी ने आरोपो को निराधार बताया।

Post a Comment

0 Comments