पुल का उद्घाटन करने गए मंत्री-विधायक भूल गए सोशल डिस्टेंसिंग, डीएम भी रहे मौजूद

मोतिहारी। जिले के गंडक नदी के रास्ते सारण-तिरहुत प्रमंडलों को जोड़ने वाली सत्तरघाट महासेतु का उद्घाटन मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। उद्घाटन के बाद उन्होंने महासेतु जनता को समर्पित कर दिया। उद्घाटन करने आये जिले के प्रभारी मंत्री विनोद नारायण  रि बन काटकर पुल के रास्ते आवागमन को हरी झंडी दे दी । इस बीच उद्घाटन समारोह की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। वायरल तस्वीरों में रिबन काटने के दौरान मंत्री, विधायक एवं अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते दिख रहे हैं।

तस्वीरों में जिले के प्रभारी मंत्री विनोद नारायण झा के साथ कल्याणपुर विधायक सचिन्द्र प्रसाद सिंह, पिपरा विधायक श्याम बाबू यादव, जदयू नेता सतीश कुमार सहित 50 से ज्यादा लोगो से साथ जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक भी मौजदू है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन के दौरान लगातार देश के नागरिकों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने की अपील कर रहे हैं तो उन्हीं के पार्टी के विधायकों की तस्वीरें अब सोशल मीडिया में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते वायरल हो रही है।आपको बता दें कि आज की जदयू के प्रवक्ता व मंत्री नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव पर राघोपुर में राजनीतिक कोरोना फैलाने का आरोप लगाया था।

आपको बतां दे कि 263.48 करोड़ की लागत से 1440 मीटर लंबी इस महासेतु पर आवागमन मंगलवार से शुरू हो गई। महासेतू का निर्माण होने से शिवहर, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पूर्णिया जिलों के अलावा पड़ोसी देश नेपाल की दूरी कम हो गई है। दोपहर करीब पौने बारह बजे सीएम ने शीलापट्ट से पर्दा हटा कर महासेतु का विधिवत उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही उपस्थित अधिकारियों व लोगों को संबोधित किया।

Post a Comment

0 Comments