बिहार कई जिलों में हुई मूसलाधार बारिश, व्रजपात व दीवार गिरने से 5 की मौत

BIHAR: बिहार में सोमवार को आंधी-बारिश के दौरान अलग-अलग घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई। मधुबनी व अररिया में तीन महिलाओं समेत चार लोग वज्रपात के शिकार हो गए, वहीं समस्तीपुर में आंधी-पानी के दौरान दीवार गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। दूसरी ओर सुपौल में इस दौरान खेत में काम कर रहे पांच लोग वज्रपात के कारण बुरी तरह से जख्मी हो गए। 


बिहार में माॅनसून आने में हो सकती है देरी

दरअसल, बिहार के कई इलाकों में अचानक दोपहर में कई जिलों के मौसम का मिजाज बदल गया। वहीं कई जिलों में तेज धूप खिली रही। हालांकि दक्षिण-पश्चिम मानसून ने सोमवार को केरल तट पर दस्तक दे दी है, लेकिन बिहार में मॉनसून चार-पांच दिन की देरी से दस्तक दे सकता है। पहले से अनुमान था कि सब कुछ ठीक रहा तो 14-15 जून को मानसून बिहार में दस्तक देगा, लेकिन इसके आने में दो-चार दिन की देरी हो सकती है। 

बिहार में मॉनसून की दस्तक में पूर्वानुमान से चार-पांच दिनों का विलंब हो सकता है। बिहार में अब यह मॉनसून 20 जून के बाद ही प्रवेश करेगा। मई के पूर्वार्ध में आइएमडी के घोषित पूर्वानुमान के मुताबिक मॉनसून की बिहार में दस्तक 16 जून को तय थी, लेकिन मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बिहार में मॉनसून में विलंब से होने वाली बारिश की मात्रा पर कोई असर नहीं पड़ेगा। बिहार में अभी भी 100 फीसदी बारिश अनुमानित है।


अररिया के अलावा सिवान आंधी-तूफान के साथ बारिश हुई। गोपालगंज में भी मौसम का मिजाज बदला रहा। दिन में ही अंधेरा छा गया था। बाद में तेज हवाओं के साथ इलाके में बारिश भी हुई। किशनगंज में भी मूसलाधार बारिश हुई। मधुबनी में भी मौसम का मिजाज बदला रहा। गरमी से लोगों को निजात मिली। फारबिसगंज में तेज आंधी के साथ बारिश हुई। मोतिहारी में अच्‍छी बारिश हुई। वहीं, जहानाबाद, कटिहार, बांका, सासाराम, हाजीपुर, लखीसराय आदि जिलों में धूप के साथ उमस भरी गरमी रही। पटना में भी देर शाम बूंदाबांदी हुई।

Post a Comment

0 Comments