गोपालगंज में RJD नेता के घर में घुस मां-बाप और भाई की हत्या, JDU विधायक समेत तीन पर आरोप

GOPALGANJ: हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव में दो बाइक पर सवार अपराधियों ने रविवार की शाम घर के बाहर बैठे आरजेडी नेता जेपी चौधरी और उनके परिवार पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमें गोली लगने से जेपी की मां और पिता ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया, जबकि भाई की सोमवार की सुबह पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (पीएमसीएच) में मौत हो गई। वहीं घायल आरजेडी नेता जेपी चौधरी का इलाज पीएमसीएच में चल रहा है। जेपी चौधरी के बयान पर कुचायकोट विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय, विधायक के बड़े भाई कुख्यात सतीश पांडेय व पुत्र जिला परिषद मुकेश पांडेय को नामजद तथा एक अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज की गईं है।

मृतकों की पहचान महेश चौधरी, संकेतिया देवी और शांतनु चौधरी के रूप में हुई है। हत्या क्यों की गई ये अभी साफ नहीं हो सका है। राजद जिला अध्यक्ष राजेश सिंह कुशवाहा ने बताया कि जेपी यादव कुछ महीने पहले राजद में शामिल हुए थे इनका पूरा परिवार राजद का समर्थक है।



दो बाइक सवारों ने दिया वारदात को अंजाम

जानकारी के अनुसार हथुआ थाना के रूपनचक गांव निवासी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता जेपी चौधरी अपने पिता महेश चौधरी, मां संकेतिया देवी और भाई शांतनु चौधरी के साथ घर के बाहर बैठे थे। शाम करीब छह बजे दो बाइक पर सवार पांच अपराधी पहुंचे और फायरिंग शुरू कर दी। घटना में 70 वर्षीय महेश चौधरी तथा उनकी पत्नी संकेतिया देवी की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि शांतनु चौधरी ने सोमवार की सुबह पीएमसीएच में इलाज के क्रम में दम तोड़ दिया। वहीं आरजेडी नेता जेपी चौधरी की हालत गंभीर बनी हुई है।

बेहतर इलाज के लिए किया पटना रेफर

घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी गोली चलाते हुए भाग निकले। आसपास के लोगों ने घायल जेपी चौधरी तथा शांतनु चौधरी को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद घायल शांतनु चौधरी की हालत गंभीर देखकर उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। जेपी चौधरी का इलाज पटना में चल रहा है। घटना की सूचना मिलने के बाद हथुआ, मीरगंज, फुलवरिया तथा उचकागांव थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस अपराधियों की पहचान में जुटी है।

Post a Comment

0 Comments