COVID-19 से लड़ने के लिए 54 हजार बेड तैयार करने वाला पहला राज्य बना यूपी

लखनऊ. वैश्विक महामरी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) के चलते उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) प्रतिदिन टीम-11 के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं. सबसे खास बात है कि कोरोना के इलाज के लिए कोविड अस्पतालों में सबसे ज्यादा 54,000 बेड तैयार करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन गया है. वहीं प्रदेश के हर जिले में वेंटिलेटर की बेहतर सुविधा मुहैया कराने में भी यूपी इकलौता पहला राज्य बनने का गौरव प्राप्त हुआ.

हर जिले में चालू हुई वेंटिलेटर सुविधा

बता दें कि कोरोना का पहला केस तीन मार्च को आया था, तब यूपी के 36 जिलों में नहीं थी वेंटिलेंटर की सुविधा उपलब्ध नहीं थी. महज दो महीनों के भीतर योगी सरकार ने हर जिले को वेंटिलेटर मुहैया कराया. वहीं सीएम योगी ने प्रदेश के सभी मेडिकल कालेजों के प्रधानाचार्यों को निर्देश देते हुए कहा कि हर कोरोना मरीज की निगरानी खुद करें. योगी ने कहा कि डाॅक्टरों के सामने अपनी सेवा से समाज का दिल जीतने का अवसर, इसलिए संवेदनशीलता के साथ मरीजों की सेवा व देखभाल करें. 



सीएम ने कहा क्षमता का आंकलन चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में किया जाता है, इसलिए आपदा काल में बेहतर से बेहतर कार्य करें. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर प्रकार से सहयोग दे रही है. उन्होंने चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ एवं टेक्नीशियन को लगातार समुचित प्रशिक्षण देते रहने के भी निर्देश दिए.

रविवार को अपने निर्देश में मुख्यमंत्री ने कहा कि उप्र में यह सेक्टर पहले की ही तरह अपने गौरव को प्राप्त करे यह मेरी प्रतिबद्धता है. उत्तर प्रदेश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) का बेहद संपन्न इतिहास रहा है. हर जिले के खास उत्पाद (एक जिला एक उत्पाद) इसका सबूत है. अब इन्हीं एमएसएमई उद्योगों और एक जिला एक उत्पाद के जरिए सरकार करीब 90 लाख अतिरिक्त रोजगार के अवसर मुहैया कराएगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि हर एमएसएमई में रोजगार का एक अतिरिक्त अवसर पैदा किया जाय. मालूम हो कि प्रदेश में फिलहाल एमएसएमई की 90 लाख इकाइयां भी हैं. नयी लगने वाली इकाईयों के लिए पर्यावरण के साथ सभी तरह के अनापत्ति प्रमाणपत्रों के नियमों को सरल किया जाएगा. पारदर्शिता के लिए ये सारे प्रमाणपत्र सिंगल विंडो सिस्टम से तय समय में मिलेंगे.

Post a Comment

0 Comments