कारोबारी हत्याकांड को लेकर सीतामढ़ी पहुंचे डीजीपी, बोले- ऐसे नहीं चलेगा काम, सख्ती बरतने की जरूरत

सीतामढ़ी। शहर के चर्चित कारोबारी प्रभास हिसारिया की हत्या के बाद डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय बुधवार देरशाम सीतामढ़ी पहुंच गए। शहर में पहुंचते ही डीजीपी का काफिला सीधे सर्किट हाउस गया। वहां एसपी अनिल कुमार समेत तमाम पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे। कुछ देर रुकने के बाद डीजीपी घटनास्थल के लिए सीधे कोट बाजार निकल पड़े। उनके साथ एसपी अनिल कुमार भी थे। घटनास्थल का मुआयना करने के बाद डीजीपी ने एसपी और व्यवसायियों से भी जानकारी ली।


डीजीपी के पहुंचने की खबर पाकर तमाम बड़े व्यवसायी भी पहुंच गए। सबने डीजीपी से सुरक्षा की गारंटी मांगी। एसपी अनिल कुमार ने डीजीपी को बताया कि अपराधियों की पहचान कर ली गई है। सीसीटीवी फुटेज से उनकी पहचान हुई है। उन्होंने डीजीपी को अवगत कराया कि शहर के कोट बजार मे सुबह 11 बजे स्कूटी सवार तीन बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया। घटना के समय व्यवसायी अपने गोदाम से पुरानी एक्सचेंज रोड घर लौट रहे थे। लूट के लिए बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया है। एसडीपीओ सदर के नेतृत्व में पुलिस की एक स्पेशल टीम गठित कर दी गई है। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। जल्द ही उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

व्यवसायियों की सुरक्षा के सवाल पर एसपी ने डीजीपी को बताया कि उसके लिए शाम में नगर थाने पर बैठक की गई है। व्यवसायियों की बातें सुनकर उनकी मांग के अनुसार सुरक्षा बंदोबस्त पुख्ता करने किया जाएगा। उसके लिए खास रणनीति बनाई जा रही है। इतना सुनने के बाद भी डीजीपी एसपी की इन बातों से संतुष्ट नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि अपराध और अपराधियों के खात्मे के लिए सीतामढ़ी पुलिस को और जोर सख्ती के साथ पेश आने की जरूरत है।

Post a Comment

0 Comments