देश में कोरोना मरीजों की संख्या 78 हजार के पार पहुंची, अबतक 2549 मौतें, देखिए राज्यवार आंकड़े

नई दिल्ली: देश में जानलेवा कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है. इस वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में हर दिन इजाफा हो रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब इस महामारी से संक्रमित मरीजों की संख्या 78 हजार से ज्यादा हो गई है. मंत्रालय के मुताबिक, अबतक 78 हजार 03 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं.अबतक 2549 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि 26235 लोग ठीक भी हुए हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के मामलों में 3,722 की बढ़त हुई और 134 मौतें हुईं.

किस राज्य में कितनी मौतें हुईं?

स्वास्थय मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में 975, मध्य प्रदेश में 232, गुजरात में 566, दिल्ली में 106, तमिलनाडु में 64, तेलंगाना में 34, आंध्र प्रदेश में 47, कर्नाटक में 33, उत्तर प्रदेश में 83, पंजाब में 32, पश्चिम बंगाल में 207, राजस्थान में 121, जम्मू-कश्मीर में 11, हरियाणा में 11, केरल में 4, झारखंड में 3, बिहार में 7, ओडिशा में 3, असम में 2, हिमाचल प्रदेश में 2, मेघालय में 1 मौत हुई है.

यहां देखें राज्यवार लिस्ट

क्रमांकराज्य का नामकोरोना के कुल मामले (11 विदेशी नागरिक शामिल)
ठीक हुए/डिस्चार्ज हुएमौत
1अंडमान निकोबार33150
2आंध्र प्रदेश2137114247
3अरुणाचल प्रदेश110
4अमस80397
5बिहार9403887
6चंडीगढ़187283
7छत्तीसगढ़59550
8दिल्ली79982858106
9गोवा770
10गुजरात92673562566
11हरियाणा79341811
12हिमाचल प्रदेश66392
13जम्मू कश्मीर97146611
14झारखंड173793
15कर्नाटक95945133
16केरल5344904
17लद्दाख43220
18मध्य प्रदेश41732004232
19महाराष्ट्र259225547975
20मणिपुर220
21मेघालय1301
22मिजोरम100
23ओडिसा5381433
24पुद्दुचेरी1390
25पंजाब192420032
26राजस्थान43282459121
27तमिलनाडु9227217664
28तेलंगाना136794034
29त्रिपुरा155160
30उत्तराखंड72461
31उत्तर प्रदेश3729190283
32पश्चिम बंगाल2290702207
भारत में कुल मरीजों की संख्या78003262352549

10 बड़े राज्य जहां कोरोना के सबसे ज्यादा मामले
देश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में हैं, जहां संक्रमित मरीजों की संख्या 25922 है. इसके बाद दूसरे नंबर पर गुजरात है, जहां 9267 मामले हैं. तीसरे नंबर पर तमिलनाडु में 9227, राजधानी दिल्ली में 7998 मामले, राज्यस्थान में 4328 मामले, मध्य प्रदेश में 4173, उत्तर प्रदेश में 3729, आंध्र प्रदेश में 2137, तेलंगाना में 1367 और बिहार में 940 मामले हैं.

मेगा राहत पैकेज से कोरोना संकट से अर्थव्यवस्था को उबारने के उपाय
कोरोना वायरस संक्रमण के संकट काल में मिल रही आर्थिक चुनौतियों का सामना करने के लिए केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को 20 लाख करोड़ रुपये के मेगा राहत पैकेज के तहत 15 प्रमुख घोषणाएं कीं. एमएसएमई के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का कोलेटल फ्री यानी बगैर किसी जमानत या बंधक के कर्ज प्राप्त करने की व्यवस्था की है, जिसका फायदा करीब 45 लाख कारोबारियों को मिलेगा. यह कर्ज चार साल के लिए होगा और एक साल मूलधन चुकाने में राहत मिलेगी. इसमें 100 करोड़ रुपये तक का कारोबार करने वाले एमएसएमई को 25 करोड़ रुपये तक का कर्ज मिल पाएगा.

संकटग्रस्त एमएसएमई के लिए 20 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. इससे दो लाख से ज्यादा एमएसएमई को फायदा होगा. बेहतर कारोबार करने वाले एमएसएमई में 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा. इनके लिए 10 हजार करोड़ रुपये के फंड ऑफ फंड की स्थापना की जाएगी.

वित्तमंत्री ने आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी है. वहीं, टैक्स ऑडिट की आखिरी तारीख 30 सितंबर से बढ़ाकर 31 अक्टूबर की गई है. रेलवे, सड़क परिवहन राजमार्ग और सीपीडब्ल्यूडी जैसी केंद्र सरकार की एजेंसियों के ठेकेदारों को उनके प्रोजेक्ट पूरे करने के लिए छह महीने का और समय दिया जाएगा.

Post a Comment

0 Comments