सोमवार को 200 स्पेशल ट्रेनों में 1.45 लाख से अधिक यात्री करेंगे सफर, आरोग्य सेतु ऐप को करना होगा डाउनलोड

देशभर में एक जून से शुरू हो रही 200 एसी और नॉन एसी स्पेशल ट्रेनों में सोमवार को पहले दिन 1.45 से अधिक यात्री सफर करेंगे। एक से 30 जून तक के लिए लगभग 26 लाख लोग टिकट आरक्षित करा चुके हैं।


नई दिल्ली। देशभर में एक जून से शुरू हो रही 200 एसी और नॉन एसी स्पेशल ट्रेनों में सोमवार को पहले दिन 1.45 से अधिक यात्री सफर करेंगे। एक से 30 जून तक के लिए लगभग 26 लाख लोग टिकट आरक्षित करा चुके हैं। 

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि यह विशेष मेल एक्सप्रेस गाड़ियां एक मई को शुरू हुई श्रमिक स्पेशल और 12 मई से चल रहीं राजधानी एक्सप्रेस रूट की 30 ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी। ये ट्रेनें नियमित ट्रेनों की तर्ज पर हैं। ये पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनें हैं जिनमें एसी और नॉन एसी दोनों तरह के कोच हैं। जनरल (जीएस) कोच में बैठने की जगह आरक्षित है। ट्रेन में कोई भी अनारक्षित कोच नहीं होगा। 


उन्होंने बताया कि आज सुबह 9 बजे तक 25,82,671 यात्रियों की कुल बुकिंग की गई थी। इन ट्रेनों के टिकटों की बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के जरिए ऑनलाइन की जा रही है। इसके अलावा भारतीय रेलवे ने आरक्षण काउंटर, कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससीएस) और टिकट एजेंटों के माध्यम से भी आरक्षण टिकटों की बुकिंग की अनुमति दी है।

मंत्रालय ने कहा कि टिकट कन्फर्म होने के बावजूद कोविड -19 लक्षणों वाले यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ऐसी स्थिति में उन्हें टिकट का पूरा किराया वापिस किया जाएगा। सभी यात्रियों को आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड और उपयोग करना होगा। 

भारतीय रेलवे ने राजधानी एक्सप्रेस रूट की 30 और 200 विशेष मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में आरक्षण के नियमों में महत्वपूर्ण बदलाव करते हुए यात्रियों को अग्रिम आरक्षण अवधि (एआरपी) 120 दिन कर दिया है। पहले यह अवधि 30 दिन थी। इन सभी 230 ट्रेनों में पार्सल और सामान की बुकिंग की भी अनुमति होगी। यह बदलाव आज (31 मई) से प्रभावी हो गये हैं।


Post a Comment

0 Comments