कोरोना नियंत्रित करने के लिए लागू किए गए अनियोजित लॉकडाउन ने ऐसे लाखों लोगों के जीवन में एक आर्थिक तबाही मचा दी है:राजीव प्रकाश



अमरदीप नारायण प्रसाद

राजद के प्रांतीय नेता राजीव प्रकाश सर्राफ ने कहा है कि कोरोना वायरस रोग 2019 (कोविड-19) के प्रसार और इसके आगे के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए लागू किए गए अनियोजित लॉकडाउन ने ऐसे लाखों लोगों के जीवन में एक आर्थिक तबाही मचा दी है।
 जो अनौपचारिक क्षेत्र में काम करते हैं– इनमें न केवल दिहाड़ी मज़दूर हैं बल्कि अनियमित अर्थव्‍यवस्‍था में काम करने वाले मजदूर भी हैं l  नौकरियों से छंटनी विकराल रूप ले रही तो सरकार की कोविड इकोनामिक टास्क फोर्स कहां गायब है ? अर्थव्यवस्था की रीढ लघु और मध्यम उद्योग चौपट होने की कगार पर हैं तो इन्हें पटरी पर लाने की क्या योजना है ?  जब दुनिया भर की सरकारें कोरोना के आर्थिक संकट से पार पाने को अरबों रूपये का पैकेज दे रहीं हैं तो हमारी सरकार आखिरी पायदान पर क्यों खड़ी है। कहा कि हम सरकार से अपील करते हैं कि इस संकट में "आपातकाल राशन कार्ड" जारी किए जाएं। ये उन सभी के लिए हों जो इस लॉकडाउन में अन्न की कमी से जूझ रहे हैं। लाखों देशवासी बिना राशन कार्ड के पीडीएस का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। राजद नेता ने कहा कि एक ओर अनाज गोदामों में सड़ रहा है जबकि दूसरी ओर सैकड़ों भूखे पेट इंतज़ार कर रहे हैं और यह अमानवीय है। कोरोना वायरस संकट और व्यवसायों के बंद होने से लाखों बिहारी श्रमिक गहरे संकट में हैं और घर लौटने के लिए बेताब हैं। सरकार से  इन भाई-बहनों को मदद की काफी जरूरत है और इन्हें वापस लाने के लिए ट्रैन को सेनिटाइज कर उन्हें बिहार लाने की  व्यवस्था की जानी चाहिए और फिर इन्हें क्वारंटाइन करना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments