पूर्वी चंपारण के अरेराज स्थित क्वारंटाइन सेंटर से दो कोरोना संदिग्ध फरार, खोज में जुटी पुलिस

पूर्वी चंपारण। अरेराज अनुमंडल मुख्यालय में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद सोमवार को क्वारंटाइन सेंटर में रखे गये दो मरीज फरार हो गए है। इस घटना ने इलाके को फिर से दहशत में ला दिया है। प्रशासन द्वारा सीमा सील किए जाने और कड़ी चौकसी के दावों के बीच दो संदिग्ध मरीजों की फरार होने की घटना प्रशासन को मुंह चिढ़ाता नजर आ रहा है। 
 बताया जाता है कि सरकारी बस स्टैंड स्थित दो भवन को क्वारंटाइन सेन्टर बनाया गया है। एक भवन में चार लोगों को क्वारंटाइन किया गया था, जिसमें से एक पॉजिटिव पाया गया है। वहीं दूसरे भवन में अनुमंडल क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों के 12 लोगों को रखा गया है। इस भवन में रखने की प्रक्रिया 26 अप्रैल से शुरू की गई। इसमें से एक 26 अप्रैल को ही फरार हो गया था। शेष ग्यारह का सोमवार को जांच के लिए नमूना लेना था। 
इस बीच जब जिला से पहुंची मेडिकल टीम ने नमूने लेने की शुरूआत की तो सिर्फ नौ लोग ही उपस्थित हुए। छानबीन के दौरान बताया गया कि सोमवार की सुबह दो मरीज फरार हो गया है। उक्त दोनों गोविंन्दगंज थाना क्षेत्र के सरेया पिपरा निवासी बताया जाता है। फरारी की सूचना पर अरेराज ओपी पुलिस द्वारा सरेया पिपरा स्थित उसके घर पर छापेमारी की गई। छापेमारी में पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। वैसे पुलिस विभिन्न ठिकानों पर फरार दोनों संदिग्ध मरीजों की खोज में जुटी हुई है। फरार मरीजों में एक गोपालगंज जिला का निवासी बताया गया है, जो सरेया पिपरा वाले का संबंधी है।

Post a Comment

0 Comments