छात्र राहत कार्य योजना और प्रवासी श्रमिक कार्य योजना की घोषणा करे सरकार - सुनील।


अमरदीप नारायण प्रसाद

विभिन्न शहरों में फंसे छात्रों और मजदूरों को जांच कराकर घर पहुंचाने की गारंटी करे सरकार - आइसा।

छात्र राहत कार्य योजना और प्रवासी श्रमिक कार्य योजना की घोषणा करे सरकार  - सुनील
शहर के शास्त्री गली में आइसा के कार्यकर्ताओं ने रविवार को राष्ट्रव्यापी एक दिवसीय भूख हड़ताल के आह्वान पर भूख हड़ताल किया l
 विभिन्न शहरों में फंसे छात्रों और मजदूरों को जांच कर घर वापस पहुंचाने की मांग के साथ तमाम जरूरतमंदों को राशन, राशि,कार्ड देने की मांग की गई! वहीं आइसा जिला सचिव सुनील कुमार ने कहा कि देशभर के छात्रों - युवाओं को कोविंद -19 के कारण अभूतपूर्व  संकट का सामना करना पड़ रहा है! छात्र रूम रेंट और हॉस्टल किराया देने में असमर्थ हैं. बिना छात्रवृत्ति के हैं, अपने शैक्षणिक और कैरियर विकल्पों के बारे में अनिश्चितता से भरे है क्योंकि सरकार की ओर से छात्रों के लिए कोई ठोस कार्ययोजना नहीं है.
वहीं आइसा जिला सह सचिव प्रीति कुमारी ने कहा कि स्कूल, बीएड कॉलेज और विश्वविद्यालय की फीस का पुननिर्धारण हो और सरकार को अगले सेमेस्टर की फीस माफ करने की आवश्यकता है ताकि कोई छात्र ड्रॉपआउट ना हो l
वहीं आइसा नेत्री द्रख़्शा  जबी ने कहा कि शिक्षण संस्थानों द्वारा ऑनलाइन मोड कक्षा चलाने से वंचित तबका एवं ग्रामीण क्षेत्र के छात्र के साथ समस्या है सरकारों और नीति बनाने वाले को तुरंत गौर करना चाहिए तथा छात्र मजदूरों की एकता और एकजुटता को आगे बढ़ाते हुए, हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि छात्र और श्रमिक कार्य योजना की तत्काल घोषणा करें. उन्होंने कहा कि छात्र और मजदूरों के लिए परिवहन का इंतजाम करना चाहिए ताकि उनकी सकुशल घर वापसी हो सके।
मौके पर भूख हड़ताल में शामिल जानवी कुमारी, रंजना कुमारी इत्यादि थी।

Post a Comment

0 Comments