बिहार में एक ही दिन 12 कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से हड़कम्‍प; 51 पहुंचा आंकड़ा

पटना। बिहार में आज कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस पाए गए हैं। इसके साथ राज्‍य में कोरोना पॉजिटिव मामले बढ़कर 51 हो चुके हैं। बिहार का सिवान जिला अब कोरोनाे का हॉटस्पॉट बन गया है। आज मिले मामलों में यहां के 10 मामले शामिल हैं।
गुरुवार को अब तक बिहार में कोरोना के कुल 12 पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें 10 सिवान के हैं। सिवान के आज मिले मामलों में नौ एक ही परिवार के हैं। इस परिवार का एक सदस्य हाल ही में ओमान से लौटा था। इनमें शामिल चार महिलाओं में सबकी उम्र क्रमशः - 12, 18, 26 और 29 साल बतायी जा रही है। दूसरे सैंपल में इसी परिवार की तीन अन्य महिलाएं, जिनकी आयु 50 वर्ष 12 वर्ष और 20 वर्ष है तथा दो पुरुष, जिनकी आयु 30 वर्ष 10 वर्ष है, की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। 
सिवान से मिला एक और मामला 16 मार्च को दुबई से लौटे एक व्‍यक्ति का है। बेगूसराय में भी दो मामले पॉजिटिव मिले हैं। उनमें 15 वर्षीय लड़का और एक 18 वर्षीय युवक है। स्वास्थ्य विभाग उनका विवरण जुटा रहा है।
जानकारी के मुताबिक सिवान में ओमान से लौटे परिवार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 15 हो गई है। पहले एक फिर सोमवार को मिले पांच मामले और आज नौ पॉजिटिव केस एक ही परिवार के पाए गए हैं। इस तरह सिवान में अब कोरोना संक्रमितों को संख्या 20 हो गई, जिनमें चार ठीक होकर होम आइसोलेशन में हैं।
वहीं अब जिला प्रशासन ने सिवान के एक गांव से 91 लोगों को कोरोना वायरस की जांच के लिए पांच बसों से  बीती रात्रि में जिला मुख्यालय भेजा।


बता दें कि इससे पहले मंगलवार की शाम इसी गांव के चार कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए थे। इसमें तीन महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं। पटना से सूचना मिलने के बाद सभी चार संक्रमितों को देर रात जिला प्रशासन ने बस से मुख्यालय बुलवाया और जांच के लिए पटना भेज दिया।
मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव हुई महिलाओं में एक पूर्व में पॉजिटिव हुए युवक की मां और दूसरी पत्नी है। तीसरा युवक रिश्तेदार है और चौथी एक नाबालिग किशोरी है। ऐसे में मंगलवार को एक ही परिवार के पांच सदस्य कोरोना की चपेट में हैं। गुरुवार की सुबह आई जांच रिपोर्ट में चार कोरोना मरीजों की पुष्टि होने के बादअब जिले में कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हो गई है। जिनमें चार संक्रमित स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं और होम आइसोलेशन में हैं।

उधर, जांच रिपोर्ट आने के बाद पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल हो गया है। सूत्रों की मानें तो अभी पीड़ितों की तादाद बढ़ सकती है, क्योंकि कुछ और लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है।
बताते चलें कि जिले में 27 मार्च को पहला कोरोना का संक्रमित मरीज मिला था। इसके बाद 31 मार्च को बड़हरिया प्रखंड में दो, दरौली व हसनपुरा प्रखंड में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई थी। इसके बाद शुक्रवार को रघुनाथपुर के एक गांव के एक व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि की गई। जिला प्रशासन द्वारा संक्रमित मरीजों के स्वजनों की भी जांच कराई गई।

Post a Comment

0 Comments