-->

मेरी ब्लॉग सूची

जलियांवाला बाग के शहीदों के 101 वी शहादत दिवस पर दिया एकजुट होकर कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्ति का संदेश!

जलियांवाला बाग के शहीदों के 101 वी शहादत दिवस पर दिया एकजुट होकर कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्ति का संदेश!



अर्जुन कुमार/पश्चिम चम्पारण

बेतिया आज दिनांक 13 अप्रैल 2020 को स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ0 एजाज अहमद (अधिवक्ता) ने जलियांवाला बाग के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि आज ही के दिन आज से 101 वर्ष पूर्व 13 अप्रैल 1919 को अंग्रेज कमिश्नर जनरल डायर ने अमृतसर के जालियांवाला बाग मे पंजाब के सबसे बड़े त्यौहार

वैशाखी के अवसर पर आयोजित होने वाले विशेष समारोह में एकत्र हुए थे! प्रत्येक वर्ष जलियांवाला बाग में मेला लगता एवं पंजाब के बच्चे बूढ़े औरतें एवं युवा इस विशेष समारोह में भाग लेकर एकजुटता का परिचय देते !13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग मे मेला देख रहे लोगों पर अंग्रेजों द्वारा जलियांवाला बाग के द्वार बंद कर दिए गए एवं 10 मिनट के अंदर बंदूकों एवं मशीन गनो से 1650 राउंड गोलियां चलाई गई !जिसमें हजारों हजार बच्चे बूढ़े एवं महिलाएं शहीद हुई ! जलियांवाला बाग की घटना आधुनिक भारत की इतिहास की सबसे भयावर घटनाओं में से एक है ! जलियांवाला कांड के शहीदों के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता! तत्कालीन अमृतसर के डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय के अभिलेखों के अनुसार 484 लोग इस घटना में शहीद हुए थे! महान स्वतंत्रता सेनानी मदन मोहन मालवीय के अनुसार अमृतसर जलियांवाला बाग की घटना में 1300 से अधिक भारतीय शहीद हुए थे !तत्कालीन सिविल सर्जन अमृतसर डॉ0 स्मिथ के अनुसार 1800 से अधिक भारतीय जलियांवाला बाग में 13 अप्रैल 1919 को अंग्रेजों द्वारा निहत्थे लोगों पर गोलियां चलाएं जाने की वजह से शहीद हुए थे! जलियांवाला कांड की शताब्दी(100) वर्ष पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री एवं ब्रिटेन के शाही परिवार ने ब्रिटिश इतिहास की जलियांवाला बाग की घटना को काला अध्याय माना है !इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर सह सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ0 एजाज अहमद (अधिवक्ता) स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर डॉ0 नीरज गुप्ता एवं बिहार विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के डॉ0 शाहनवाज अली ने कहा कि उन सभी शहीद परिवारों को स्वतंत्रा सेनानी परिवारों का पंजाब सरकार एवं भारत सरकार द्वारा लाभ मिलना चाहिए, जिसके वह वास्तविक हकदार है! दिशा में सरकार को ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है ! इस अवसर पर डॉ एजाज अहमद एवं डॉ नीरज गुप्ता ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से एकजुट होकर लड़ने की आवश्यकता है! संयुक्त राष्ट्र एवं भारत सरकार के लॉक डाउन आदेश का पालन करते हुए हम सबको मिलकर विश्व की सबसे बड़ी मानवीय त्रासदी से भारत एवं विश्व को मुक्त कराना है!

0 Response to "जलियांवाला बाग के शहीदों के 101 वी शहादत दिवस पर दिया एकजुट होकर कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्ति का संदेश!"

एक टिप्पणी भेजें

LATEST