सड़क पर जलजमाव से होकर जाते लोग, नगर परिषद के मनमानी से लोग परेशान

 मधेपुरा: (रूपेश कुमार) जिला मुख्यालय स्थित कबीर नगर  मोहल्ला 3 में प्रोफेसर जगदीश यादव के घर के आगे सड़क पर गंदे पानी के जमाव से लोगों को परेशानी होती है। इस बाबत- प्रोफ़ेसर जगदीश यादव ने बताया कि दरवाजे के आगे गंदा पानी का जमाव रहता है, इससे लोगों के आवागमन में काफी परेशानी होती है, नाला नहीं सड़क पर बहता है पानी। नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड नंबर 3 की स्थिति ठीक नहीं है,इस सड़क  से जाने के दौरान लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
 अरविंद यादव ने बताया गंदा पानी के निकासी के लिए नाला नहीं रहने के कारण से सड़क पर पानी बहाया जाता है, इस करण  स्थानीय लोग को काफी दिक्कत होती है ।इससे पहले कई वार्ड में नाला का सुविधा दिया गया है। लेकिन इस स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं अधिकारियों की उदासीनता के कारण लोगों की समस्या बरकरार है ।
विवेकानंद यादव ने बताया कि कभी-कभी यह भी देखने को मिलता है जब इस सड़क से कोई अनजान व्यक्ति गुजरता है ,तो सड़क पर गंदा पानी जमाव रहने की वजह से पिछड़ कर  गिरने से घायल हो जाता है।
 वहीं मोहल्ले वासी - बेबी भारती ने बताया कि इस सड़क पर गंदे पानी  रहने के कारण से लोगों की आवागमन में काफी परेशानी होती है । लोगों को सड़क पर  आने जाने के क्रम में काफी दुर्गंध  आती है ,जिससे कि लोगों को सांस लेने में दम घुटने लगता है ।इसी गंदगी की वजह से लोगों में  कई तरह- तरह के बीमारियों की जड़ उत्पन्न होती है। दिन प्रतिदिन लोग बीमारियों से ग्रसित होते जा रहे हैं ।जिससे लोगों की जान पर खतरा है ।
 कभी-कभी यह भी देखने को मिलता है ।जब इस सड़क से कोई अनजान व्यक्ति गुजरता है ,सड़क पर पानी गिरने की वजह से साइकिल, मोटरसाइकिल , वाले व्यक्ति पिछड़ कर गिर जाता है। कई बार एक्सीडेंट भी हुआ है ।यहां पर पानी  गिरने के ही वजह से बराबर एक्सीडेंट होते रहता है। 
जल-जमाव ,गंदगी और बदबू के कारण नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं यहां के स्थानीय लोग, नाला निर्माण कार्य में गुणवत्ता को नजरअंदाज करने के कारण नगर वासियों के लिए नाला किसी अभिशाप से कम नहीं, सफाई सिर्फ नगर परिषद कार्यालय और वार्ड पार्षदों के घरों के आसपास ही क्यों ? वार्ड पार्षदों के मालिक यानी आम जनता के घरों के आसपास गंदे पानी का जमाव  और  गंदगी का अंबार क्यों? क्या वार्ड पार्षदों की नजर में यहां के जनता कीड़े मकोड़े हैं ?

वहीं मौके पर रोशन यादव ने बताया कि जलजमाव से सड़क बना तालाब, लोग परेशन  कबीर नगर जाने वाली सड़क पर जलजमाव से तालाब सा नजारा दिख रहा है। जिसके कारण सड़क गड्‌ढा में तब्दील हो गया...
सड़क पर जलजमाव से तालाब सा नजारा दिख रहा है। जिसके कारण सड़क गड्‌ढा में तब्दील हो गया है। अावागमन करने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 
जहां  कि 2 वर्षों से जल जमाव की स्थिति बनी हुई है। इसपर आज तक ना कोई प्रशासनिक अधिकारी ध्यान दे रहें है व ना ही जन प्रतिनिधि। जलजमाव के कारण सड़क पर गड्‌ढा का पता नहीं चल पाता है। जिससे रोजाना कोई न कोई अनजान व्यक्ति इसमें गिरकर घायल हो ही जाते हैं। साइकल व बाइक सवार अगर सावधानी नहीं बरते तो उनका गिरना तय है। उक्त पथ पर पैदल चलना भी दूभर साबित होता है।
 एक तरफ सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री नाली- गली पक्कीकरण योजना से  नाली का निर्माण कराया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर वार्ड न० -3 में सड़क पर ही नाली की गंदे पानी को बहने के लिए छोड़ दिया गया है। जिससे अब लोगों में आक्रोश पनपता जा रहा है।
सड़क पर जलजमाव से दीवाल के सहारे लेकर जाते है लोग। 

वहीं के कुछ स्थानीय लोगों के द्वारा  कहा जाता है  वहां के आस- पास मे हिंदू समाज के लोगों का धार्मिक स्थल भी है 
 जहां रोजाना पूजा अर्चना के लिए ,स्थानीय लोग गौशाला मंदिर मे  दर्शन करने जाते हैं।जिस पथ पर जलजामव है। उसी रास्ते से लोग इन दोनों ऐतिहासिक व धार्मिक स्थल पर जाते हें। जिससे उन्हें काफी दिक्कत होती है। इसके साथ कई स्कूलों के बच्चों को आने - जाने के एकमात्र रास्ता है।
 जहां सड़क पर  करीब 2 वर्षों से जल जमाव की स्थिति बनी हुई है। रोजाना कोई न कोई इसमें गिरकर घायल हो ही जाते हैं, लेकिन शिकायत करने के बावजूद भी वार्ड पार्षद मौन, चेयरमैन चुप ,
कार्यपालक पदाधिकारी खामोश और जिला अधिकारी बेखबर,
 गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं नगरवासी, नरक से भी बदतर है शहर के गली मोहल्ले ,
नगर परिषद  की मनमानी और लापरवाही से तबाह और परेशान है नगर वासी।

Post a Comment

0 Comments