विदेश तथा राज्य के बाहर से आने वाले लोगों की जांच कर होम कोरंटाईन करने का निदेश

लाॅकडाउन एवं होम कारंटाईन के फायदों से लोगों को करायें अवगत: जिलाधिकारी।

अर्जुन कुमार/नरकटियागंज

बेतियाः जिलाधिकारी, कुंदन कुमार ने कहा कि विदेश तथा राज्य के बाहर से आने वाले लोगों की सूक्ष्मता से जांच की जाय तथा जांचोपरांत अगर वह व्यक्ति कोरोना वायरस से संदिग्ध पाया जाता है तो उन्हें होम कोरंटाईन में रखा जाय तथा आवश्यकता पड़ने पर उन्हें आइसोलेशन सेंटर में रखा जाय। होम कोरंटाईन में रहने वाले व्यक्ति किसी भी सूरत में घर से बाहर नहीं निकलें, इसका खास ध्यान रखा जाय। उन्होंने कहा कि विदेश से आने वाले लोगों के घरों के बाहर आॅरेंज कलर का प्रपत्र तथा राज्य के बाहर से आने वाले लोगों के घरों के बाहर ग्रीन कलर का प्रपत्र अच्छी तरह से चिपकाया जाय। 
साथ ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से निर्गत प्रपत्र भी चिपकाया जाय जिसमें यह अंकित रहेगा कि डाॅक्टर द्वारा कब-कब संदिग्ध व्यक्ति की जांच की गयी है। उन्होंने कहा कि होम कोरंटाईन में रहने वाले व्यक्ति की ट्रैवल हिस्ट्री सहित वे किन-किन लोगों के संपर्क में रहें हैं की विस्तृत विवरणी अद्यतन रखा जाय। इसके साथ ही उनके परिवार में 60 वर्ष से उपर के सदस्य तथा गर्भवती महिलाओं की विवरणी अनिवार्य रूप से सुरक्षित रखें। वे वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिले के विभिन्न अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निदेश दिया कि प्रत्येक दस घरों पर एक कर्मी की प्रतिनियुक्ति की जाय तथा प्रत्येक व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की जाय। स्क्रीनिंग के क्रम में अगर कोई व्यक्ति संदिग्ध पाया जाता है तो उन्हें तुरंत आइसोलेशन वार्ड में भिजवाना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रखंड तथा अनुमंडल स्तर पर जितने भी कंट्रोल रूम कार्यरत हैं वे अपना-अपना डाॅक्यूमेंट अद्यतन रखेंगे। कंट्रोल रूम में कितने शिकायतें प्राप्त हुयीं और कितने शिकायतों का निष्पादन कर दिया गया है, इसका नियमित प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया है। उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निदेश दिया कि संबंधित मुखिया, वार्ड सदस्य तथा नगर निकायों के वार्ड पार्षदों के साथ हमेशा समन्वय बनाकर रखें ताकि उनसे सूचनाओं का आदान-प्रदान करने में सुविधा हो। इसके साथ ही सभी कोषांगों के अधिकारी, जिला अनुमंडल के कंट्रोल रूम, सभी कोषांगों, एंबुलेंस, एमओआईसी, एमओ आदि अधिकारियों का नंबन भी एक जगह संधारित करने का निदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है। 
जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना रैपिड रिस्पांस टीम द्वारा व्यापक स्तर से जिले के सभी पंचायतों में लाॅकडाउन तथा होम कोरंटाईन के बारे में लोगों को जागरूक करें। इसी क्रम में सभी लोगों की स्क्रीनिंग भी की जाय तथा संदिग्ध व्यक्ति मिलने पर तुरंत आइसोलेशन सेंटर में भिजवाना सुनिश्चित किया जाय। जिलाधिकारी द्वारा सभी बीडीओ, सीओ, थानाध्यक्ष, सीडीपीओ, एमओ को प्रत्येक दिन एक साथ शाम में बैठक कर प्रत्येक बिन्दु पर समीक्षा करने का निदेश दिया गया है। 
इस बैठक में अपर समाहर्ता नंदकिशोर साह, उप विकास आयुक्त रवीन्द्र नाथ प्रसाद सिंह, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अनिल राय सहित सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, उपाधीक्षक, अनुमंडलीय अस्पताल, बगहा, नरकटियागंज, सभी कार्यपालक पदाधिकारी, नगर निकाय, सभी प्रखि विकास पदाधिकारी, सभी अंचल अधिकारी, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सभी थानाध्यक्ष, सभी प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक, जीविका आदि सम्मिलित हुए।

Post a Comment

0 Comments