Delhi : केजरीवाल आज तीसरी बार लेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ, रामलीला मैदान में उमड़ रहा है भारी सैलाब

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल रविवार को लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। केजरीवाल दोपहर 12.15 बजे शपथ ग्रहण लेंगे। उनके साथ कैबिनेट मंत्री भी शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के भारी जनसमूह उमड़ने लगा है।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली के सातों सांसदों, नवनिर्वाचित आठों भाजपा विधायकों और सभी नगर निगम पार्षदों को भी आमंत्रित किया है। पार्टी ने चुनाव परिणाम के दिन आप के कार्यालय परिसर में अपने पिता के साथ केजरीवाल के पुराने गेटअप में पहुंचे एक साल के 'छोटू मफलरमैन' अव्यान तोमर को खासतौर से आमंत्रित किया है। इसके अलावा दिल्ली शासन में योगदान करने वाले विभिन्न क्षेत्रों के 50 प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया है। ये सभी नए मंत्रिमंडल के साथ मंच साझा करेंगे।

रामलीला मैदान में लोगो के लिए पुख्ता इंतजामात किये गये है। आम आदमी गेट नंबर 4, 5, 6, 7, 8 और 9 से रामलीला मैदान में प्रवेश कर सकेंगे। सुरक्षा के लिहाज से मैदान और उसके आसपास लगभग 5,000 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। इसके अलावा गतिविधियों पर नजर रखने के लिये 125 सीसीटीवी कैमरे और 12 एलईडी स्क्रीन लगाए गए हैं। 45,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी है। 

दिल्ली पुलिस ने यातायात और सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए हैं। सुबह 8 बजे से दोपहर दो बजे तक यह प्रबंध लागू रहेंगे। बसों की सामान्य पार्किं ग के लिए माता सुंदरी रोड पॉवर हाउस, सिविक सेंटर के अंदर और पीछे की ओर स्थान तय किया गया है। इसी तरह वेलोड्रोम रोड, राजघाट पार्किं ग, शांति वन पार्किं ग राजघाट और समता स्थल के सर्विस रोड पर भी बसों को पार्क किया जा सकता है।

केजरीवाल रामलीला मैदान में लेंगे शपथ

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल रविवार को रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, जहां 'धन्यवाद दिल्ली' लिखे बड़े पोस्टर लगाए गए हैं। केजरीवाल के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के साथ मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र पाल गौतम मंत्री पद की शपथ लेंगे।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) को भारी जनादेश मिला जिसने 70 सीटों में से 62 सीटों पर जीत दर्ज की जबकि भाजपा केवल आठ सीटें हासिल कर सकी और कांग्रेस की झोली खाली रही।

शपथ ग्रहण समारोह में शहरभर के लोगों को आमंत्रित किया गया है।

पार्टी को करीब एक लाख लोगों के आने की उम्मीद है, जिसमें भीड़ का एक बड़ा हिस्सा दिल्ली का आम आदमी होगा।

Post a Comment

0 Comments