अंचल कार्यालय के समीप सातवें दिन आमरण अनशन पर बैठे रहे अनशनकारी।

पताही: (प्रिंस कुमार) पताही प्रखंड के आंचल कार्यालय  परिषर में  बलुआ जुल्फेकारावाद पंचायत के दर्जनों महिला पुरुष अनशनकारी सातवें  दिन मंगलवार को आमरण अनशन पर बैठे रहे , बुधवार को तीन अनशन पर बैठे लोगों को चिकित्सा पदाधिकारी ने मोतीहारी सदर अस्पताल  रेफर कर दिया था , जबकि अनशनकारी बच्चा मिया और बीरेन्द्र राम  की हालत आज भी खराब है। ज्ञात हो कि बलुआ जुल्फेकारा वाद पंचायत के वार्ड नं 3 एवं 5 के दर्जनों लोग वर्ष 2019 में बाढ़ राहत सहायता राशि वितरण में गड़बड़ी को लेकर बुधवार को आमरण अनशन पर बैठे है। 18 जुलाई 2019 को बलुआ जुलफेकाराबाद पंचायत के सैकड़ों महिला एवं पुरूष बाढ़ पीड़ितों ने अंचल कार्यालय पताही का धेराव कर बाढ़ सहायता राशि की मांग कर रहे थे उस वक्त तत्कालीन सीओ रोहित कुमार द्वारा उक्त पंचायत के प्रमोद बैठा के पुत्र विवेक बैठा का कालर पकड़ कर घिसटने लगें थे । 
तब सैकड़ों बाढ़ पीड़ित उग्र हो गए थे ।पुलिस प्रशासन एवं समाजिक बुद्धि जिवियो के द्वारा मामला को रफा-दफा कर बीडीओ मनोज कुमार को उक्त पंचायत को जांच करने को कहा गया फिर भी बाढ़ पीड़ितों को सहायता राशि नहीं मिला। जिसके छ: माह बीत जाने के बाद उक्त पंचायत वासी अनशन किये हुए हैं । बस विवेक की गलती इतनी थी कि वह बोला कि सीओ साहब दो हजार रुपये घुस लेगें तब बाढ़ सहायता राशि देंगे यह बात सुनकर सीओ आगबबूला हो कर उसका कालर पकड़ कर घिसटने लगें थे । अनशनकारी सिओ को दिये आवेदन में कहा है कि वर्ष 2019 में प्रखंड में आई बाढ़ में बलुआ जुल्फेकारावाद पंचायत के वार्ड नं 3 और 5 में बाढ़ से सर्वाधिक छति हुआ था जबकी इसी गांव के अन्य दो वार्डो में सहायता राशि का वितरण हुआ। लेकिन इन दोनों वार्डो में वितरण नही हुआ है ,अनसन कारी एक ही व्यक्ति के खाते में दो से तीन बार राशि भेजने का भी आरोप लगा रहे थे , और इसकी जांच करा दोषियों पर करवाई करने एवं बाढ़ सहायता राशि से वंचित लोगो को सहायता राशि देने की मांग कर रहे है, खबर लिखे जाने तक अनशन जारी है , सातवें  दिन भी अनशन पर बैठे अनशनकारियों का सुधि लेने कोई पदाधिकारी नही पहुँचे है।

Post a Comment

0 Comments