बिहार और बिहारी को फस्ट बनाने के लिये आज से जिले के दौरे पर चिराग पासवान, कन्हैया और तेजस्वी के बाद अब लोजपा के चिराग अब जाकर करेगें लोगों से बात

PATNA: बिहार विधान सभा चुनाव नजदीक आते ही बिहार के युवा नेताओ को भी बिहार की चिंता सताने लगी है. इसके तहत जहां जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार करीब एक महीने से पूरे बिहार में जन गण मन यात्रा कर रहे है, तो  बिहार विधान सभा में विरोधी दल के नेता तेजस्वी यादव ने कुछ जिलो में संविधान यात्रा की और अब बिहार से बेरोजगारी दूर करने के लिये 23 फरवरी से बेरोजगारी यात्रा करने वाले है.
वही केन्द्र और बिहार की सत्ता में भागीदार लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और युवा नेता चिराग पासवान भी आज से बिहार फस्ट और बिहारी फस्ट की यात्रा  पटना से शुरू की. यात्रा की शुरूआत करने से पहले प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिराग पासवान ने स्वीकार किया कि बिहार अभी भी पिछड़ा राज्य है, इसकी हालत को देखकर ही मैने  बिहार को नबंर एक बनाने के लिये ही यह यात्रा शुरू की है. 
हालांकि वे बिहार को कैसे एक नबंर बनायेगें और उनके पास क्या रोड मैप है इसका खुलासा उन्होने नही किया है . लेकिन उन्होने कहा कि हम यात्रा के दौरान अपने कार्यकर्ताओं से मिलकर फीड बैक लेगें.  साथ ही चिराग ने एलान किया कि 14 अप्रैल को लोजपा के द्वारा गांधी मैदान में एक बड़ी रैली की जायेगी. अब चिराग के दौरे को बिहार की जनता किस रूप में लेती है यह तो आने वाला वक्त बतलायेगा. लेकिन कभी चिराग के पिता रामविलास पासवान अपने भाषणो में कहा करते थे कि वे उस घर में चिराग जलाने चले है जिस घर में सदियो से अधंरा है. अब उनके घर के चिराग पूरे बिहार को रौशन करने का बीड़ा उठाया है.

Post a Comment

0 Comments