उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू, जानिए कैसे माहौल में घुल गया हिंसा का जहर

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में पत्थबाजी और आगजनी की घटना के बाद कई जगहों पर धारा 144 लागू कर दी गई है. सूत्रों के मुताबिक उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीआरपीएफ की कुल आठ कंपनिया तैनात की गई हैं. इसमें दो रैपिड फोर्स एक्शन और एक कंपनी महिला सुरक्षाकर्मियों की है. 

आज क्या कुछ हुआ?

आज करीब सुबह सात बजे मौजपुर चौक पर नागरिकता कानून के समर्थन में लोग बैठे थे. सुबह करीब 10 बजे मौजपुर चौक से 200 मीटर आगे कबीर नगर इलाके के लोग नागरिकता कानून के विरोध में सड़क पर आ गए. इसके करीब आधे घंटे बाद कबीर नगर के विरोधियों और मौजपुर चौक के समर्थकों के बीच पत्थरबाजी होने लगी.

ये पत्थरबाजी दोपहर एक बजे तक चलती रही. इस बीच नार्थ ईस्ट इलाके में अलग-अलग जगहों से पत्थरबाजी और आगजनी की खबरें आने लगीं. करीब 2 बजे जाफराबाद इलाके में घर में आग लगा दी गई. ढ़ाई बजे के आसपास भजनपुरा इलाके में हिंसा की खबर आई, वहां पेट्रोल पंप में आग लगा दी गई. इसी बीच गोकलपुरी के हेड कॉन्स्टेबल के सिर पर पत्थर लगा, उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान मौत हो गई. 

ढ़ाई बजे के आसपास ही डीसीपी शाहदरा अमित शर्मा घायल हो गए, उनका अस्पताल में इलाज चल रहा . करीब तीन बजे जाफराबाद इलाके में एक शख्स ने गोली चलाई, जिसमें एक लड़का घायल हो गया. करीब चार बजे करदमपुरी इलाके में फिर पत्थरबाजी शुरू हो गई. पुलिस ने आंसूगैस के गोले दागे. ये करीब छह बजे तक चला. फिलहाल शांति बनी हुई है.

Post a Comment

0 Comments