जेएनयू कैंपस में हुए मारपीट के बाद बेगूसराय में भी आक्रोष ! गृहमंत्री मंत्री का पुतला दहन

 बेगूसराय-बलिया:- कृष्ण नंदन सिंह: दिल्ली के जेएनयू कैंपस में हुए मारपीट के बाद बेगूसराय में भी इस बात को लेकर बवाल मचा हुआ है ।एआईएसएफ कार्यकर्ताओं के द्वारा आक्रोश मार्च निकालकर गिरी मंत्री अमित शाह का किया पुतला दहन। देश एवं संविधान विरोधी बिल से देशभर में धधक रही विरोध की ज्वाला के मुद्दे से भटकाने के लिए जेएनयू को अपने पूर्व नियोजित सोची-समझी साजिश के तहत बंद कराने के नियत से दिल्ली पुलिस के संरक्षण में जेएनयू में संघी गुंडों के द्वारा हमला किया गया। छात्र अध्यक्ष एवं छात्र छात्राओं को बेरहमी से सरकार के इशारे पर पीटा गया। सरकार के द्वारा इस तरह के घिनौनी काम की जितनी भी निंदा की जाए कम है। उपयुक्त बातें राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के द्वारा अमित शाह के पुतला दहन कार्यक्रम के बाद आयोजित प्रतिरोध सभा को संबोधित करते हुए एआईएसएफ के जिला सचिव मुकेश ने कहा। उन्होंने कहा कि सरकार गुंडागर्दी लाठी गोली के बल पर छात्र आंदोलनों को दबाने की कोशिश कर रही है।  वह जितना लाठी गोली बरसाएंगे, गुंडे के द्वारा हमला करवाएंगे छात्रों का आंदोलन और मजबूत होगा। जिला छात्र नेता हेमचंद पासवान ने कहा कि सरकार के इशारे पर संघी लोगों का यह कायराना हरकत देश के छात्रों के प्रति सरकार की मानसिकता को दर्शाता है।
सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वाले को दबाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। जो इस देश के संविधान और लोकतंत्र  विरोधी रवैया है। इसके पहले पटेल चौक से बलिया बाजार होते हुए स्टेशन चौक नारेबाजी करते हुए पहुंचा। जहां अमित शाह का पुतला जलाया गया। मौके पर एआईएसएफ के आंचल अध्यक्ष मोहम्मद शन्नी, सचिव बिट्टू कुमार, धीरज सरोज, मो. राशिद, मो. शेखू शाहनवाज, मो. अशफाक, मो. लड्डन, मो. विक्की, वीर खान, छोटू शर्मा सहित कोई कार्यकर्ता शामिल थे।

Post a Comment

0 Comments