सहरसा में आपराधियो का तांडव: ट्रिपल मर्डर से दहला सहरसा, हत्या के विरोध में आगजनी व सड़क जाम

सहरसा : नव वर्ष का पहला सोमवार सहरसा जिले के वासियों के लिए काफी भयावह रहा. सोमवार की शाम बसनही थाना क्षेत्र से शुरू हुई हत्या का कारवां सदर थाना क्षेत्र के चांदनी चौक के समीप तीसरी हत्या तक पहुंच गया. काली रात बनकर सोमवार की रात जिले वासियों के सामने आयी. देर शाम से देर रात तक हुई तीन हत्या ने जिले को दहला दिया. एक के बाद एक हत्या से लोग हतप्रभ हैं.

जानकारी के अनुसार, पहली घटना बसनही थाना क्षेत्र के महुआ उत्तरबाड़ी पंचायत के दोतारा गांव में हुई. जहां सोमवार की देर शाम 45 वर्षीय शख्स अमिक मंडल की अज्ञात कारणों को लेकर उसके दरवाजे पर ही गोली मार दी गयी. दूसरी घटना पतरघट ओपी क्षेत्र के पामा पंचायत स्थित कबैया बस्ती के वार्ड नंबर 14 में सोमवार की रात हुई. जहां चोरी का आरोप लगाते हुए जिरबा बस्ती वार्ड नंबर 16 के निवासी 25 वर्षीय सुधीर यादव को बांस के खूंटे से बांधकर बेरहमी से पीटकर हत्या कर दी गयी. 


वहीं, तीसरी घटना सदर थाना क्षेत्र के चांदनी चौक से बख्तियारपुर जाने वाली सड़क में बस स्टैंड के समीप हुई. जहां बदमाशों ने एक मोबाइल कंपनी के सेल्स एग्जिक्यूटिव बटराहा निवासी मंतोष ठाकुर की चाकू से गोद कर हत्या कर दी. शाम से देर रात तक तीन हत्या की जानकारी आग की तरह फैल गयी. सूचना मिलते ही तीनों थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच मामले की तहकीकात कर शव को कब्जे में लिया.



इधर, मंगलवार की सुबह शहर के थाना चौक पर हत्या के विरोध में सड़क जाम कर पुलिस प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की गयी. सूचना पर पहुंचे एएसपी बलिराम चौधरी, मुख्यालय डीएसपी बृजेंद्र मेहता, प्रभारी थानाध्यक्ष मो मजबुद्दीन अहमद सहित अन्य ने लोगों को कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया गया. इस दौरान कुछ युवकों ने बाजार में घूम-घूमकर दुकान बंद करायी. जाम समाप्त होने के बाद प्रभारी थानाध्यक्ष, टेक्निकल सेल प्रभारी मंगलेश मधुकर के नेतृत्व में चांदनी चौक से घटनास्थल तक में लगे कई सीसीटीवी की जांच की गयी. वहीं डॉग स्क्वायड टीम के रोंची ने भी घटनास्थल पर अपराधियों के भागने की दिशा में काम किया. हालांकि, कोई खास सफलता पुलिस को नहीं मिली है.



Post a Comment

0 Comments